मुंबई. मुंबई में इंडिया न्यूज के कार्यक्रम महाराष्ट्र मंच में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस शामिल हुए. देवेंद्र फडनवीस ने मराठा आंदोलन को लेकर कहा कि कई सरकारें आईं लेकिन 30 सालों के इस आंदोलन में हमारी सरकार ने ही इसके लिए कानून तैयार किया. महाराष्ट्र सरकार ने इस आरक्षण को प्रमाणिकता के साथ देने का प्रयास किया. फिलहाल मामला कोर्ट  में होने से कुछ नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा कि गरीब बच्चों के लिए 50 प्रतिशत फीस कम की गई. हमने एक सारथी संस्था तैयार की जिससे समाज को आगे ले जाने के लिए अलग अलग बिंदुओं पर काम हुआ. इसके साथ ही हमने राज्य के किसानों का डेढ़ लाख तक का कर्ज माफ किया.

इसके अलावा मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने कहा कि अगर जीएसटी काउंसिल पैट्रोल डीजल को जीएसटी में लाना चाहता है तो हम उसका समर्थन करेंगे. हालांकि जब तक जीएसटी पूरी तरह से क्रिया में न आए हमे रुकना चाहिए ताकि मुश्किल पड़ने पर स्थिति को संभाला जा सके.  फडनवीस ने राज्य में मॉब लिंचिंग जैसे मुद्दों पर भी चर्चा की. उन्होंने कहा कि इसके लिए बीजेपी और शिवसेना मिलकर काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि मुंबई में जमा हो रहे बरसात के पानी के समाधान के लिए हमारी सरकार कई सारे प्रोजेक्ट लेकर आ रही है. उन्होंने कहा कि 5 साल के भीतर मुंबई के 90 लाख लोग मेट्रो का लाभ उठा सकेंगे.

शिवसेना और बीजेपी के विचार अलग है लेकिन हिंदुत्व और राष्ट्रियता के विचार पर हम साथ है. कुछ चीजों पर विचार अलग हैं तो रास्ता निकाला गया है. हम अपने अभिमान को दूर कर साथ मिल कर काम  कर रहे हैं. हम सामना नहीं पढ़ते हम बस मानते हैं जब उद्धव ठाकरे खुद कुछ कहते हैं. शिवसेना कभी अलग चुनाव नहीं लड़ेगी क्योंकि इससे उसका और बीजेपी दोनों का ही नुकसान होगा. विचारों से हम काफी पास है. बूजेपू का नेचुरल एलाइंस शिवसेना के साथ ही हो सकता है.

हाल ही में संसद में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भाषण को लेकर फडनवीस ने कहा कि उन्हें और तथ्यों और तैयारी के साथ आना चाहिए था. उन्होंने कहा कि विपक्ष समुदायिक फूट डालना चाहता है. फडनवीस ने कहा कि राहुल अभी अगले 10 साल तक विपक्ष में रहेंगे.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App