नई दिल्ली. Gurugram  गुरुग्राम में प्रशासन ने नमाज़ अदा करने वाले 38 सार्वजनिक स्थानों में से 8 स्थलों के नाम वापस लिए है. प्रशासन ने बताया की इस फैसले का कारण ‘स्थानीय निवासियों और रेज़िडेंट वेलफ़ेयर एसोसिएशन की आपत्ति’ है. गुरुग्राम में पिछले कुछ समय से हिन्दू संगठनों और नमाज़ अदा करने वाले लोगों के बीच विरोध प्रदर्शन चल रहा है. अभी कुछ समय पहले गुरुग्राम शहर की सार्वजनिक जगहों पर नमाज़ अदा करने को लेकर सेक्टर-12 ए में जमकर विरोध हुआ था . नमाज़ पढ़ने आए लोगो और हिन्दू संगठन के लोगों के बीच नारेबाजी हुई. इस विरोध प्रदर्शन में पुलिस ने करीब 3 दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया था.

 इन जगहों पर प्रशासन ने वापस ली अनुमति
जिन सार्वजनिक नमाज़ अदा करने वाले स्थलों के नाम वापिस लिए गए हैं वे ये आठ स्थल हैं: सेक्टर 49 में बंगाली बस्ती, डीएलएफ फएज 3 का वी ब्लॉक, सूरत नगर फेज 1, खेड़की माजरा गांव का बाहरी इलाका, दौलताबाद का बाहरी इलाका, सेक्टर 68 में रामगढ़ गांव के पास, डीएलएफ स्कॉयर टाउन के पास और नखरोला रोड से रामपुर गांव तक. वही प्रशासन ने बताया सार्वजनिक और खुली जगह पर नमाज के लिए प्रशासन की सहमति जरूरी है. प्रशासन ने बताया नमाज किसी भी मस्जिद, ईदगाह या किसी निजी या दी गई स्थान पर पढ़ी जा सकती है. प्रशासन ने कहा, “अगर अन्य जगहों पर भी स्थानीय लोगों को आपत्ति है तो वहां भी नमाज अदा करने की इजाजत नहीं दी जाएगी.”

यह भी पढ़ें:

Ayodhya Deepotsav 2021: अयोध्या दीपोत्सव की तैयारियां पूरी, एक साथ 9 लाख दिये जलाकर बनेगा वर्ल्ड रिकार्ड

Lakshmi Mantra on Diwali 2021: दिवाली पर इन 5 मंत्रों का जाप करने से होगी हर मनोकामना पूरी, घर में आएंगी खुशियां

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर