नई दिल्ली. भारत ने इजरायल के साथ रक्षा मामले में एक अहम करार किया है. दरअसल इजरायल की मुख्य सरकारी रक्षा कंपनी ने भारतीय नौसेना के साथ सतह से हवा में मार करने वाली बराक-8 मिसाइलों एंव मिसाइल रक्षा प्रणाली की पूर्ति के लिए 77.7 करोड़ डॉलर के समझौते को मंजूरी दी है. इजरायली मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इजरायल एरोस्पेस इंडस्ट्री (IAI) ने इस मामले में बताया कि इस प्रोजेक्ट के लिए भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड(BEL) प्रमुख निर्माता कंपनी होगी.

मिली जानकारी के मुताबिक, रिपोर्ट में बताया गया कि भारतीय नौसेना के सात पोतों के लिए सतह से हवा में मार करने वाली लंबी दूरी की मिसाइल (LR-SAM), एएमडी प्रणाली बराक-9 के समुद्री संस्करण और हवाई मिसाइल रखा प्रणाली (AMD) की आईएआई पूर्ती करेगी. गौरतलब है कि आईएआई इजरायल की सबसे बड़ी रक्षा कंपनी मानी जाती है. वहीं भारत के इजरायल के रक्षा संस्थान के साथ काफी गहरे संबंध हैं. इससे पहले भी भारत ने इजरायल रक्षा कंपनियों के साथ अहम सौदे किए हैं.

IAI के मुख्य कार्यधिकारी निम्रोद शेफर ने इस मामले में कहा कि हमारी भारत के साथ भागीदारी कई सालों पुरानी है. इस भागीदारी का नतीजा विकास और उत्पादन के रूप में सामने आया है. उन्होंने कहा कि भारत आईएआई के लिए एक बड़ा बाजार है. ऐसे में हमारी योजना अपनी मौजूदगी को भारत में मजबूत रखने का है. एक रूसी अखबार में शेफर के हवाले से कहा गया कि आईएआई अपनी क्षमता को सुरक्षित रख लगातार अपनी बिजनेस की रणनीति को एक नया रूप देती है जिसका एक उदाहरण बराक-8 मिसाइल भी है.

बेंजामिन नेतन्याहू पर रिश्वत और धोखाधड़ी का मुकदमा चले, इनके खिलाफ पर्याप्त सबूत: इजरायली पुलिस

पूर्व सीआईए चीफ को डोनाल्ड ट्रंप ने किया ब्लैकलिस्ट तो भड़के कई पूर्व अधिकारी, उठाया यह कदम

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App