दक्षिण भारत. Cyclone Jawad Update चक्रवात जवाद ने दस्तक दे दी है. चक्रवात के चलते आंध्र प्रदेश में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है, साथ ही इस चक्रवात के दुष्परिणामों ( Harmful effects of Cyclone jawad ) को देखते हुए राज्य में दो दिनों के लिए स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया गया है.

ओड़िसा से टकरा सकता है चक्रवात

इन दिनों मौसम का मिजाज बदला बदला सा है, जहां एक ओर कई राज्यों में कपकपाती ठंड शुरू हो गई है तो वहीं कई राज्यों में अब भी बादल छाए हुए हैं. दक्षिण भारत में बीते कई दिनों से बारिश का कहर छाया हुआ है, ऐसे में चक्रवात के आने से स्थिति और बिगड़ने की आशंका है. मौसन विभाग ने आंध्र प्रदेश और ओड़िशा में चक्रवात तूफान के मद्देनजर भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी स्थिति की समीक्षा लेते हुए तूफान की तैयारियों का जायजा लिया. चक्रवात जवाद कल आंध्र प्रदेश के तट से टकरा सकता है, आपदा प्रबंधक टीमों की तैनाती पहले ही की जा चुकी है. मौसम विभाग के मुताबिक जवाद तूफान के तट से टकराने के बाद शनिवार की सुबह हवा की गति 100 किमी प्रति घंटे तक हो सकती है. इसके मद्देनज़र आंध्र प्रदेश, ओड़िशा और पश्चिम बंगाल में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है.

ओड़िशा के इन जिलों में हाई अलर्ट जारी

चक्रवात जवाद के मद्देनज़र ओड़िशा में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है. ओड़िशा के गजपति, गंजम, पुरी और जगतसिंहपुर जिलों में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है जबकि और बाकी के सात जिलों- केंद्रपाड़ा, कटक, खुर्दा, नयागढ़, कंधमाल, रायगड़ा, कोरापुट जिले में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है.

यह भी पढ़े: 

OMICRON: ओमिक्रॉन संक्रमित दो मरीजों के संपर्क में आये 5 लोग भी चपेट में

Vastu Tips for Winters सर्दियों में वास्तु के अनुरुप क्या करें