नई दिल्ली. इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) ने कुलभूषण जाधव मामले में भारत के पक्ष में फैसला सुनाया था और पाकिस्तान को आदेश दिया था कि वो जाधव को काउंसलर एक्सेस दे. पाकिस्तान ने आज दोपहर तीन बजे भारतीय काउंसलरों से जाधव की मुलाकात कराने की पेशकश की है. लेकिन इस मामले में पाकिस्तान की तरफ से पेंच उलझाने की कोशिश हो रही है. आईसीजे ने अपने फैसले में पाकिस्तान को आदेश दिया था कि वो फ्री (मुक्त) काउंसलर एक्सेस दे. लेकिन सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान इस मुलाकात में अपने अधिकारियों की मौजूदगी चाहता है और साथ ही पूरी मीटिंग की सीसीटीवी रिकॉर्डिंग भी.  सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि भारत ने इन शर्तों को मानने से इनकार कर दिया है.

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैजल ने कहा, हमनें भारतीय दूतावास को यह पेशकश दी है कि वो शुक्रवार को काउंसर एक्सेस हासिल कर सकते हैं. भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत  इस पेशकश का आंकलन करने के बाद आधिकारिक चैनल से जवाब देगा. सूत्रों बता दें कि भारत और पाकिसतानी दूतावास पिछले कुछ दिनों से इस मुलाकात की शर्तों और परिस्थितियों पर बात कर रहे थे.

भारतीय पक्ष ने यह साफ कर दिया था कि काउंसलरों से मुलाकात उस तरह तो बिल्कुल नहीं होगी जिस तरह पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी से उसकी मुलाकात के वक्त किया था. वहीं पाकिस्तान ने कहा है कि वह आईसीजे के फैसले के मुताबिक काम कर रहा है. इस मामले पर विदेश मंत्रालय ने खामोशी बरती हुई है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने पत्रकारों से बातचीत में साफ किया कि वह इस मामले की कोई डिटेल सार्वजनिक नहीं करेंगे क्योंकि दोनों देश बातचीत की प्रक्रिया में हैं. पाकिस्तान की पेशकश की बात पर हामी भरते हुए रवीश कुमार ने कहा हम आईसीजे के फैसले की रौशनी में इस पेशकश की समीक्षा कर रहे हैं. इस मामले में आधिकारिक चैनल से पाकिस्तान से बातचीत जारी रहेगी.

बता दें कि जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की जेल में बंद कूलभूषण जाधव पर हाल ही में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) ने हाल ही में अपना फैसला सुनाया था. इंटरनेशनल कोर्ट ने उनकी फांसी पर रोक लगा दी थी. भारत के हक में फैसला सुनाते हुए इंटरनेशनल कोर्ट ने जाधव को कॉन्‍स्‍यूलर एक्‍सेस देने का आदेश भी दिया था. कोर्ट के इस फैसले पर पाकिस्तान ने ऐतराज जताया था, लेकिन आईसीजे ने इसे खारिज कर दिया था.

अंतरराष्ट्रीय कोर्ट ने कहा था कि पाकिस्तान को अपने फैसले (सजा-ए-मौत) की फिर से समीक्षा करनी चाहिए. नीदरलैंड में द हेग के ‘पीस पैलेस’ में सार्वजनिक सुनवाई हुई थी, जिसमें अदालत के प्रमुख न्यायाधीश अब्दुलकावी अहमद यूसुफ मे फैसला पढ़कर सुनाया था. 16 में से 15 जज, भारत के हक में थे.

ICJ Verdict On Kulbhushan Jadhav Case Political Reaction: कुलभूषण जाधव केस में आईसीजे से पाकिस्तान को फटकार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, पी चिदंबरम, अरविंद केजरीवाल समेत इन नेताओं ने किया फैसले का

Pakistani Media on ICJ verdict on Kulbhushan Jadhav Case: आईसीजे में कुलभूषण जाधव केस में पाकिस्तान की छीछालेदर होने के बाद भी बेशर्मी पर उतर आया पाक मीडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App