नई दिल्ली: पुलवामा हमले के बाद भारत पाकिस्तान को पानी पानी के लिए मोहताज करने की तैयारी में है. खुद केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इस बात की ओर इशारा किया है कि पुलवामा हमले के बाद भारत पाकिस्तान को मिलने वाला पानी ही बंद कर देगा. गौरतलब है कि ये बयान ऐसे समय में आया है जब पुलवामा हमले को एक हफ्ता ही बीता है जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. इस हमले के एक दिन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हाई लेवल मीटिंग हुई थी जिसमें पीएम मोदी ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस लेने फैसला किया था.

बुधवार को यूपी के बागपत में जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि भारत की तरफ से तीन नदियां पाकिस्तान को जाती हैं जिन्हें यमुना नदी की तरफ मोड़ दिया जाएगा. नितिन गडकरी ने कहा कि तीन नदियां का पानी भारत से होते हुए पाकिस्तान जाता है उसे हम यमुना नदी से जोड़ने की योजना बना रहे हैं इससे यमुना में हमेशा पर्याप्त पानी रहेगा. इससे पहले पुलवामा हमले के बाद नितिन गडकरी ने कहा था कि भारत माता अपने सच्चे सपूतों का बलिदान कभी नहीं भूलेगी. उन्होंने घटना की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा था कि इस हमला का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा.

पुलवामा हमले के बाद से भारत पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस ले चुका है साथ ही साथ भारत ने पाकिस्तान से आयात कम करने के लिए ड्यूटी को 200 फीसदी तक बढ़ा दिया है. इसके अलावा भारत ने पाकिस्तान से अपने राजनेयिक को भी भारत वापस बुला लिया है.

India vs Australia ODI Series 2019: आस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले टीम इंडिया को लगा बड़ा झटका, पूरी सीरीज से बाहर हुए हार्दिक पांड्या, जानें वजह
Congress PC on Pulwama Attack: पुलवामा आतंकी हमले पर कांग्रेस हमलावर, रणदीप सिंह सुरजेवाला बोले- देश शहीदों के टुकड़े चुन रहा था पीएम मोदी नारे लगवा रहे थे