लद्दाख: भारत चीन सीमा पर एक बार फिर तनाव का माहौल है. बीती रात चीन के करीब 500 सैनिकों ने भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश की लेकिन मुस्तैद भारतीय सेना ने उन्हें पीछे खदेड़ दिया. खबर के मुताबिक 29-30 अगस्त की रात चीनी सेना ने ईस्टर्न लद्दाख के पैंगोंग इलाके में घुसपैठ की कोशिश की, जिसे भारत के जवानों ने नाकाम कर दिया.

सूत्रों के मुताबिक 29 अगस्त की रात चीनी सेना के 500 जवानों ने एलओसी पर हरकत की. इस दौरान उन्होंने ना सिर्फ भारतीय सीमा में घुसकर घुसपैठ करना चाहा बल्कि वो कैंप लगाने की भी कोशिश करने लगे लेकिन समय रहते भारतीय जवानों ने चीनी सेना की इस नापाक हरकत को पहचान लिया और उसे पूरी ताकत के साथ नाकाम कर दिया और चीनियों को वहां तक खदेड़ दिया जहां वो पहले थे. हालांकि, ये भी बात सामने आई है कि दोनों देशों के सैनिकों के बीच कोई झड़प नहीं हुई है.

इस घटना को लेकर चीन के विदेश मंत्रालय ने हालात से अलग बयान दिया है. चीनी विदेश मंत्रालय ने चीनी सैनिकों के घुसपैठ की घटना से इनकार करते हुए कहा कि बॉर्डर पर मौजूद चीनी सैनिकों ने LAC को पार करने की कोशिश नहीं की. साथ ही चीनी विदेश मंत्रालय ने ये भी कहा कि दोनों देशों के बीच सीमा विवाद को लेकर बातचीत जारी है. आपको बता दें कि सोमवार सुबह भारत सरकार की ओर से चीन बॉर्डर पर ताजा स्थिति को लेकर एक बयान जारी किया गया जिसके मुताबिक, पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील के पास दोनों देशों के सैनिक 29-30 अगस्त की रात को आमने-सामने आए. चीनी सेना ने यहां पर घुसपैठ की कोशिश की, जिसे भारतीय सेना के जवानों ने नाकाम कर दिया.

सरकार ने बताया कि 29-30 अगस्त की रात चीनी सेना PLA के जवानों ने पिछली बैठकों में जो समझौता हुआ था उसे तोड़ा और ईस्टर्न लद्दाख के पास हालात को बदलने की कोशिश करते हुए घुसपैठ की. अब इस विवाद को सुलझाने के लिए बैठक जारी है, दोनों ओर कमांडर लेवल के अफसर मसले को सुलझाने की कोशिश में लगे हैं.

China India Standoff: बार्डर से पीछे हटने को तैयार नहीं चीन, फिर दिखाई भारत को आंख, सेना पूरी तरह तैयार

Rahul Gandhi on Unemployment: राहुल गांधी बोले- पिछले 4 महीनों में गईं 2 करोड़ नौकरियां, अर्थव्यवस्था का सच नहीं छुप सकता

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर