India China Face Off: भारत ने चीन से कड़े शब्दों में कहा है कि LAC में एकतरफा बदलाव कतई बर्दाश्त नहीं होगा. विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि LAC को लेकर हमने अपनी स्थिति स्पष्ट कर दी है. हम शांति चाहते हैं. 1993 के बाद से कई समझौते हुए. चीन के सैनिकों ने समझौते का उल्लंघन किया.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि LAC को बदलने के प्रयास को हम स्वीकार नहीं करेंगे. शांति की बहाली के लिए प्रयास जारी है. हमने राजनयिक और सैन्य स्तर का इस्तेमाल किया. शांति द्विपक्षीय संबंध का आधार है. अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि हमने यह भी स्पष्ट किया है कि भारत LAC का सम्मान करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है. हम LAC में एकतरफा बदलाव स्वीकार नहीं करेंगे.

बता दें कि कोर कमांडर की बैठक के बाद चीन कई इलाकों से पीछे हटने को राजी हो गया है, लेकिन फिंगर 4 और फिंगर 5 पर वह बना रहना चाहता है. चीन पैंगोंग और गोगरा से पीछे नहीं हट रहा है .दोनों देशों के सैनिकों के पीछे हटने के शुरुआती कदम के बाद स्थिति में कुछ ज्यादा बदलाव नहीं आया है. दोनों ही देशों के सैनिक काफी कम फासले पर मौजूद हैं. हालांकि सैनिकों की संख्या जरूर घटी है.

बता दें कि कुछ दिनों पहले ही रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने एलएसी पर जारी भारत चीन तनाव के बीच भारतीय वासुसेना को किसी भी चुनौती से निपटने के लिए शॉर्ट नोटिस पर तैयार करने को कहा है. भारत चीन को स्पष्ट संकेत दे दिए हैं कि वह किसी भी प्रकार के अतिक्रमण को बर्दाश्त नहीं करेगा.

Rajasthan Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट में सचिन पायलट गुट की जीत, बागी विधायकों पर शुक्रवार को राजस्थान हाई कोर्ट सुनाएगा फैसला

Ayodhya Bhoomi Pujan: ऐसे होगा अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर का शिलान्यास, पीएम नरेंद्र मोदी गर्भगृह में स्थापित करेंगे 40 किलो चांदी की शिला

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर