नई दिल्ली : भारत और चीन सीमा विवाद पर एक अच्छी खबर सामने आयी है. पिछले करीब एक साल से जारी सीमा विवाद अब खत्म होता दिख रहा है. दरअसल, गुरुवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राज्यसभा में भारत- चीन सीमा विवाद को लेकर एक बड़ा ऐलान किया और बताया कि पैंगोंग लेक के पास विवाद को लेकर भारत और चीन के बीच समझौता हो गया है. इस विवाद पर दोनों ही देशों ने अपनी-अपनी सेनाओं को पीछे हटाने की बात को स्वीकार कर लिया है. साथ ही फैसले पर बुधवार से अमल किया जाएगा.

गुरुवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताते हुए कहा कि पूर्वी लद्दाख सीमा पर चीन द्वारा पिछले साल भारी संख्या में गोला-बारूद इकट्ठा किया गया था. इस दौरान हमारी सेनाओं ने चीन के खिलाफ उपयुक्त जवाबी कार्रवाई की थी. सितंबर से दोनों पक्ष एक दूसरे के साथ बातचीत कर रहे थे. LAC पर यथास्थिति करना ही हमारा लक्ष्य है. जिस पर अब काबू कर लिया जाएगा. इसके अलावा रक्षा मंत्री ने कहा कि चीन ने 1962 के वक्त से ही काफी हिस्से पर कब्जा किया है. भारत ने चीन को बॉर्डर के हालात का रिश्तों पर असर पड़ने की बात कही है.

राजनाथ सिंह आगे कहा कि बातचीत के लिए हमारी रणनीति पूरी तरह से स्पष्ट है, जो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का निर्देश भी है कि हम अपनी एक इंच जमीन भी किसी और को नहीं लेने देंगे. हमारे दृढ़ संकल्प का ही यह फल है कि हम समझौते की स्थिति पर पहुंच गए हैं. राजनाथ सिंह ने यह बात कहकर चीन को दो टूक जवाब दे दिया है.

बता दें कि भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख इलाके में मार्च-अप्रैल 2020 से सीमा विवाद शुरू है. उस समय पूर्वी लद्दाख के इलाके में चीनी सेना ने घुसपैठ की थी और तय LAC को पार किया था. इसके बाद चीन की ओर से पीछे हटने से मना किया गया, जिसके बाद दोनों सेनाओं मे विवाद बढ़ गया. जून 2020 में भारत-चीन के बीच हिंसक झड़प हुई जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे. तब से ही भारत- चीन के बीच तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई थी. फिलहाल, इस ऐलान के बाद जारी विवाद में सकारात्मक असर देखने को मिल सकता है. 

Ghulam Nabi Azad Farewell: गुलाम नबी आजाद बोले- अब सांसद, मंत्री नहीं बनना चाहता, पार्टी में नहीं चाहिए पद

Delhi Nursery Admission 2021: 18 फरवरी से शुरू होगा दिल्ली नर्सरी एडमिशन का प्रोसेस, इस दिन जारी होगी पहली लिस्ट

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर