नई दिल्ली. देश में आर्थिक मंदी की सुगबुगाहट के बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कॉरपोरेट टैक्स में भारी कटौती की घोषणा कर दी है. इस फैसले के बाद शेयर बाजार झूम रहा है. बता दें कि कॉर्पोरेट टैक्स जहां पहले 30 फीसदी था उसे 22 फीसदी कर दिया गया है, वहीं नए बिजनेस में यह टैक्स महज 15 फीसदी होगा. इस घोषणा के बाद भारत दुनिया के उन चुनिंदा देशों में शामिल हो गया है जो सबसे कम कॉरपोरेट टैक्स वसूलते हैं. नरेंद्र मोदी सरकार का यह फैसला मास्टरस्ट्रोक साबित होता है या नहीं यह तो भविष्य बताएगा लेकिन फिलहाल तो बाजार ने इस फैसले का स्वागत दिल खोलकर किया है. देखें दुनिया के टॉप 10 देशों में क्या है कॉरपोरेट टैक्स की दर.

बता दें कि वित्त मंत्री ने बताया कि जिन कंपनियों की स्थापना 1 अक्टूबर के बाद होगी उन्हें कॉरपोरेट टैक्स के तौर पर 15 फीसदी कर का भुगतान करना पड़ेगा. नई घरेलू फर्मों के लिए प्रभावी कर की दर अधिभार और कर सहित 17.01 प्रतिशत है. वित्त वर्ष 2019-20 से किसी भी घरेलू कंपनी को 22 फीसदी की दर से कॉरपोरेट टैक्स अदा करना होगा. यह इस शर्त के साथ लागू होगा कि वे पहले से किसी अन्य छूट योजना का लाभ नहीं उठा रहे. बता दें कि पहले यह टैक्स 30 फीसदी की दर से लिया जाता था. इसके अलावा रियायतों का लाभ उठाने वाली कंपनियों को राहत देने के लिए एमटी की दर 18 फीसदी से 15 फीसदी कर दी गई है.

दुनिया के 10 सबसे बड़े बिजनेस सेंटर्स में क्या है कॉरपोरेट टैक्स की दर

1. अमेरिका में 21 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स वसूला जाता है. वहीं अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य में स्थित सिलिकन वैली में कॉरपोरेट टैक्स की दर और भी कम है. बिजनेस और स्टार्ट अप का ग्लोबल सेंटर होने की वजह से सिलिकन वैली में महज 8.840 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स लिया जाता है.

2. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में एक महाशक्ति की हैसियत हासिल कर चुका चीन में भी भारत के मुकाबले कॉरपोरेट टैक्स कम थी. चीन में 25 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स वसूला जाता है. अब भारत में चीन से कम कॉरपोरेट टैक्स वसूला जाएगा. इससे उम्मीद की जानी चाहिए कि ग्लोबल मार्केट में भारत एक ज्यादा लुभावना बाजार बनकर उभरेगा.
3. इंटरनेशनल मार्केट का एक और बड़ा प्लेयर फ्रांस है. बता दें कि फ्रांस में फ्रांस में 31 से 33.33 फीसदी तक कॉरपोरेट टैक्स वसूला जाता है जो भारत के मुकाबले अधिक है.
4. ब्रिक्स में भारत का अहम साझेदार ब्राजील अपने यहां कॉरपोरेट टैक्स 34 फीसदी की दर से वसूलता है. भारत की कॉरपोरेट टैक्स दर भी ब्राजील के आसपास ही थी लेकिन आज की कटौती के बाद अब हमारे यहां ब्राजील के मुकाबले काफी कम टैक्स वसूला जाएगा.
5. कनाडा भी बिजनेस के हिसाब से दुनिया के अग्रणी देशों में आता है. कॉरपोरेट टैक्स के मामले में कनाडा निवेशक फ्रेंडली देश है. कनाडा में 15 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स वसूला जाता है.
6. तकनीक और हथियार के क्षेत्र में दुनिया का सिरमौर समझा जाने वाला इजराइल अपने यहां 23 फीसदी की दर से कॉरपोरेट टैक्स वसूलता है.
7. दुनिया के विकसित देशों में शुमार जर्मनी में कॉरपोरेट टैक्स की दर पहले से ही काफी कम है. वहां 15 फीसदी की दर से टैक्स वसूला जाता है. भारत में भी नए बिजनेसमैन्स को इसी दर से कॉरपोरेट टैक्स चुकाना होगा. ऐसे में भारत में स्टार्ट अप करना अब पहले के मुकाबले काफी ज्यादा आसान और लाभदायक होगा.
8. सिंगापुर भले ही साइज में छोटा हो लेकिन बिजनेस से लेकर सिटी प्लानिंग में वह पूरी दुनिया को राह दिखाता हुआ नजर आता है. सिंगापुर में कॉरपोरेट टैक्स की दर 17 फीसदी है. जाहिर है सिंगापुर में बिजनेस करने वालों को सरकार ज्यादा टैक्स के भार से लादने से बचती है.
9. बिजनेस के एक और बड़े केंद्र हॉंग कॉंग की अगर बात करें तो यहां तो सिंगापुर से भी कम कॉरपोरेट टैक्स वसूला जाता है. हॉंग कॉंग में 16.5 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स वसूला जाता है.
10. ब्रिटेन किसी दौर में सारी दुनिया को अपना उपनिवेश बनाने की सनक का शिकार था. लेकिन बाजार में जोर जबरदस्ती नहीं चलती. यूनाइटेड किंगडम में 19 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स वसूला जाता है.

जानें भारत के आस पास के देशों का क्या है हाल
अगर भारत के पड़ोसी देशों की बात करें तो बांग्लादेश में 25 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स वसूला जाता है. वहीं पाकिस्तान में कॉरपोरेट टैक्स कीदर 29 फीसदी है. तकनीक की दुनिया के महारथी जापान में कॉरपोरेट टैक्स की दर 23.2 फीसदी है. ऑस्ट्रेलिया में यह 30 फीसदी है तो दक्षिण अफ्रीका में यह दर 28 फीसदी है. साफ है कि भारत में कॉरपोरेट टैक्स में यह बड़ी कटौती है. इससे भारत दुनिया के उन देशों की लिस्ट में शामिल हो गया है जहां कॉरपोरेट टैक्स की दरें कम हैं. इससे अधिक संख्या में निवेशकों के आने की उम्मीद जगती है. बेशक इस फैसले से सरकार पर आर्थिक दबाव बढ़ेगा, उसका टैक्स कलेक्शन कम होगा लेकिन मंदी की आहटों के बीच बाजार ने बांहे पसार कर इस फैसले का स्वागत किया है.

Sensex-Nifty Rise After Corporate Tax Cut: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की कॉरपोरेट टैक्स में कटौती की घोषणा के बाद सेंसेक्स में 1700 प्वाइंट का उछाल, निफ्टी भी 11 हजार पार

Nirmala Sitharaman Corporate Tax Cut: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बड़ा ऐलान कॉरपोरेट टैक्स में हुई कटौती, फैसले से झूमा शेयर बाजार, सेंसेक्स 1600 प्वाइंट उछला