नई दिल्ली: Income tax Special Online Platform: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टैक्स प्रणाली में पारदर्शिता बढ़ाने के लिए गुरुवार को एक नए खास प्लेटफॉर्म की शुरुआत की जिसका नाम ट्रांसपैरेंट टैक्सेशन: ऑनरिंग द ऑनेस्ट दिया गया है. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये प्लेटफॉर्म 21वीं सदी के टैक्स सिस्टम की शुरुआत है, जिसमें फेसलैस असेसमेंट-अपील और टैक्सपेयर्स चार्टर जैसे बड़े रिफॉर्म हैं. बताया जा रहा है कि इस नए टैक्स प्लेटफॉर्म के तहत करदाता को फेसलेस असेसमेंट, टैक्स पेयर्स चार्टर, फेसलेस अपील की सुविधा मिलेगी. साथ ही अब टैक्स देने में आसानी होगी, तकनीक की सहायता से लोगों पर भरोसा जताया जाएगा. आयकर विभाग को टैक्सपेयर का सम्मान रखना जरूरी होगा.

कोरोना को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब जान-पहचान का मौका खत्म हो चुका है इसलिए इस नई व्यवस्था से ट्रांसफर पोस्टिंग के मसलों से लोगों को राहत मिलेगी. उन्होंने कहा कि टैक्स से जुड़े मामलों की जांच और अपील दोनों एक दूसरे से मिले हो सकेगा. पीएम मोदी ने ये भी कहा कि अब आयकर विभाग को टैक्सपेयर का सम्मान रखना जरूरी होगा. पीएम ने कहा कि टैक्सपेयर्स के योगदान से ही देश चलता है और उसे तरक्की का मौका मिलता है. प्रधानमंत्री ने बताया कि 2012-13 में जितने टैक्स रिटर्स होते थे और उनकी स्क्रूटनी होती थी आज उससे काफी कम है, क्योंकि हमने टैक्सपेयर्स पर भरोसा किया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज 130 करोड़ लोगों में से सिर्फ डेढ़ करोड़ लोग ही टैक्स भर रहे हैं, ये संख्या काफी कम है. हर व्यक्ति को इसपर चिंतन करना होगा, इससे ही देश आत्मनिर्भर आगे बढ़ेगा. पीएम ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस यानी 15 अगस्त से ही लोग टैक्स देने का संकल्प लें. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि पहले 10 लाख का मामला भी अदालत में चला जाता था, लेकिन अब हाईकोर्ट-सुप्रीम कोर्ट में जाने वाले मामले की सीमा क्रमश: 1-2 करोड़ की गई है. अब फोकस अदालत से बाहर ही मामलों को सुलझाने पर है.

Prime Minister Speech: पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत 8.55 करोड़ किसानों के खातों में भेजे गए 17 हजार करोड़ रुपए, 1 लाख करोड़ रुपए की वित्तपोषण की शुरुआत

Punjab Alcohol Death: पंजाब में जहरीली शराब पीने से अबतक 30 लोगों की मौत, सीएम अमरिंदर सिंह ने दिए जांच के आदेश