रांचीः झारखंड में हुए विधानसभा उपचुनावों में भी बीजेपी को भारी झटका लगा है. दो विधानसभा के लिए हुए उपचुनाव में बीजेपी गठबंधन के प्रत्याशियों को हार मिली है, जबकि झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) ने दोनों जगहों पर जीत हासिल की है. जहां सिल्ली सीट पर जेएमएम उम्मीदवार सीमा देवी ने ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (आजसू) के सुदेश महतो को 13510 वोटों से हराया, वहीं गोमिया में जेएमएम की बबिता देवी ने आजसू के ही लंबोदर महतो को एक नजदीकी मुकाबले में 1344 मतों से मात दी.

अगर बात करें सिल्ली विधानसभा सीट की तो यहां पर जेएमएम उम्मीदवार सीमा देवी को 77129 जबकि आजसू के सुदेश को 63619 वोट मिले. यहां पर बीजेपी ने अपना कोई उम्मीदवार नहीं खड़ा किया था और आजसू के प्रत्याशी को ही समर्थन दिया था. वहीं गोमिया सीट पर स्थिति इससे भिन्न थी. यहां पर बीजेपी और आजसू के बीच तालमेल नहीं बैठ पाया. इसलिए दोनों दलों ने अपने-अपने उम्मीदवार यहां खड़े किए. इसका फायदा जेएमएम को हुआ. जेएमएम उम्मीदवार बबिता देवी को 60551 तो आजसू उम्मीदवाप लंबोदर महतो को 59207 वोट मिले. वहीं बीजेपी के माधवलाल 42055 वोट के साथ तीसरे स्थान पर रहें. 

आपको बता दें कि 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में ये दोनों सीट जेएमएम के पास ही थी. सिल्‍ली से अमित महतो और गोमिया से योगेंद्र महतो विधायक थे. लेकिन एक मामले में कोर्ट से दो साल की अध्‍ािक की सजा मिलने के बाद इन दोनों विधायकों की सदस्‍यता रद्द कर दी गई थी. इसके बाद यहां 28 मई को उपचुनाव की घोषणा हुई थी. इस चुनाव की खास बात थी कि जेएमएम ने सहानुभूति लेने के लिए दोनों सीटों पर पूर्व विधायकों की पत्नियों को टिकट दिया था, जो कि सफल रहा. इस चुनाव में जेएमएम प्रत्‍याशियों के समर्थन में विपक्षी एकता थी. जेएमएण को कांग्रेस, झारखंड विकास मोर्चा, राजद और वामदलों से समर्थन प्राप्त था.

जेडीयू को मिले वोट से भी बड़े मार्जिन से आरजेडी ने जीता जोकीहाट विधानसभा उपचुनाव

नूरपुर में बीजेपी की करारी हार, समाजवादी पार्टी के नेईमुल हसन ने BJP की अवनी सिंह को हराया

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App