नई दिल्ली. पहली बार पाकिस्तान ने 26/11 हमले में पाकिस्तान के आंतकी संगठन होने की बात कबूल की है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस बात को कबूल कर लिया है कि 2008 में मुंबई में हुए हमलों के पीछे पाकिस्तान का आतंकी संगठन लशकर ए तैयबा है. पाकिस्तान में सरकार बनाने के बाद शुक्रवार को इमरान खान ने विदेशी मीडिया को अपना पहले इंटरव्यू दिया. उन्होंने इस दौरान कहा, ‘मैंने अपनी सरकार को इस केस की स्थिति जानने के आदेश दिए हैं. ये केस सुलझाना हमारे लिए जरूरी है क्योंकि ये एक आतंकी हमला था.’

उन्होंने इस नौ साल पुराने केस पर पहली बार बोला है. उन्होंने ये बयान आतंकी संगठन लशकर ए तैयबा के प्रमुख जकीउर रहमान लखवी के जेल से रिहा होने पर उठ रहे सवालों पर दिया. उन्होंने कहा कि वो चाहते हैं मुंबई में बम धमाके करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए. मीडिया की ओर से उनसे सवाल किया गया कि भारत की नीतियों पर उनके क्या विचार हैं? इसपर उन्होंने कहा, ‘भारत की सत्ताधारी पार्टी की नीति एंटी मुस्लिम और एंटी पाकिस्तान है. यानि की मुसलमान और पाकिस्तानियों के खिलाफ है. उन्होंने मेरे सारे प्रस्ताव रोक दिए.’

उन्होंने ये भी कहा, ‘ये सभी प्रस्ताव आने वाले चुनावों के मद्देनजर रोक दिए गए हैं. हम उम्मीद कर रहे हैं कि चुनाव के खत्म होने के बाद भारत के साथ हमारी बातचीत फिर शुरू होगी.’ उन्होंने अमेरिका की तरफ से अफगानिस्तान के खिलाफ होने पर बयान देते हुए कहा, ‘मैं ऐसे रिश्ते बिल्कुल नहीं रखना चाहता जहां पाकिस्तान के साथ बंदूक जैसा बर्ताव किया जाए जो पैसे लेकर दूसरों की लड़ाई लड़े. हम खुद को इस जगह पर दोबारा कभी नहीं पहुंचाएंगे. इससे हमें केवल जान की हानि ही नहीं होती बल्कि हमारे सम्मान की भी होती है.’

Army General Unhappy with Surgical Strike Promotion: पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा बोले- सर्जिकल स्ट्राइक को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया, नहीं थी जरूरत

Statue of Unity Lift Stops: स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की लिफ्ट में फिर गड़बड़ी, पर्यटकों ने वापस मांगे टिकट के पैसे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App