नई दिल्ली: लगातार बढ़ती महंगाई के बीच दुनिया की सबसे बड़ी सहकारी संस्था और देश की शीर्ष उर्वरक कंपनी इफ्को ने किसानों को बड़ी राहत देते हुए एलान किया है कि वो इस महीने अपने गैर-यूरिया पोषक तत्वों की खुदरा कीमतों में बढ़ोतरी नहीं करेगी। इफको ने कहा है कि उसके काम्पेलेक्स रासायनिक उर्वरकों – डीएपी, एनपीके और एनपीएस – उर्वरकों की दरें नहीं बढ़ाई जाएगीं.

एनपीएस 20: 20: 0: 13 की कीमत 925 रुपये

इफ्को के प्रबंध निदेशक यू एस अवस्थी ने ट्वीट किया, “इफ्को में हम दोहराते हैं कि मार्च 2021 के लिए ‘काम्पलैक्स उर्वरकों में डीएपी की प्रति बोरी कीमत 1,200 रुपये हैं, एनपीके 10:26:26 की कीमत 1,175 रुपये, एनपीके 12:32:16 की कीमत 1,185 रुपये और एनपीएस 20: 20: 0: 13 की कीमत 925 रुपये है. उन्होंने कहा कि सहकारी संस्था इफ्को, हमेशा किसानों की सेवा करने के लिए प्रतिबद्ध है और इसका उद्देश्य किसानों के खेती की लागत कम करना है.

कच्चे माल की लागत में भारी बढ़ोतरी के बावजूद नहीं बढेगी कीमत

गौरतलब है कि पिछले रबी सत्र में भी, इफ्को ने ‘काम्पलैक्स उर्वरकों के लिए कोई कीमत नहीं बढ़ाई थी. इफ्को ने एक बयान में कहा, “हालांकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे माल की लागत में भारी बढ़ोतरी हुई है, लेकिन इफ्को की किसानों के प्रति प्रतिबद्धता बरकरार रहेगी.” इफ्को के भारत में पांच विनिर्माण संयंत्र हैं. इसने सामान्य बीमा, ग्रामीण दूरसंचार, ग्रामीण खुदरा कारोबार, कृषि रसायन, खाद्य प्रसंस्करण और ऑर्गेनिक्स में भी अपना विविधीकरण किया है.

IFFCO Ranked Number One : भारत के लिए गौरव का क्षण, दुनिया की पहली शीर्ष सहकारी संस्था बनी इफको

IFFCO Bazar with SBI YONO: इफको बाजार ने किया SBI योनो कृषि ऐप के साथ समझौता

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर