IFFCO Record Profit: विश्व की सबसे बड़ी उर्वरक सहकारी समिति इंडियन फारमर्स फर्टिलाइजर कोआपरेटिव लि. इफको ने वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान उत्पादन, बिक्री, लाभ और प्रचालन के क्षेत्र में अब तक के सबसे अच्छे प्रदर्शन के साथ नया कीर्तिमान कायम किया है. पिछले वित्त वर्ष के दौरान इफको को रुपए 1005 करोड़ का निवल कर पश्चात लाभ हुआ जो अब तक का सर्वाधिक है. कठिन और अनिश्चित बाजार दशा तथा मौसम के बावजूद समिति ने 133 लाख टन उर्वरकों की रिकॉर्ड बिक्री की. वर्ष 2019-20 के दौरान इफको का समूह कारोबार रुपए 57,778 करोड़ का रहा जबकि वर्ष 2018-19 के दौरान यह रुपए 50,908 करोड़ था.

प्रचालन पर नजर डालें तो वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान इफको का कुल उर्वरक उत्पादन गत वर्ष के 81.49 लाख टन से बढ़कर 91.42 लाख टन हो गया. वर्ष 2019-20 के दौरान हुए कुल उर्वरक उत्पादन में से यूरिया का उत्पादन 48.75 लाख टन तथा डीएपी/एनपीके/डबल्यूएसएफ़ का उत्पादन 42.87 लाख टन रहा जबकि गत वर्ष इनका उत्पादन क्रमश: 45.62 लाख टन तथा 35.87 लाख टन रहा.

इफको ने पिछले वित्त वर्ष के दौरान 133.31 लाख टन उर्वरकों की बिक्री की जो अब तक की सर्वाधिक बिक्री है. वर्ष 2018-19 के दौरान 115.56 लाख टन उर्वरकों की बिक्री हुई थी. कुल बिक्री में से, यूरिया की 86.31 लाख टन तथा डीएपी/एनपीके की 47 लाख टन की बिक्री हुई. इफको का न्यूनतम संयुक्त ऊर्जा खपत 5.285 जीकैल प्रति मी.टन रहा, जबकि वर्ष 2018-19 में यह 5.331 जीकैल प्रति मी.टन था. भारत में कलोल, कांडला, फूलपुर, आंवला तथा पारादीप में स्थित अपने कुल पांच संयंत्र तथा विदेश में स्थित तीन संयंत्र के साथ इफको विश्व की सबसे बड़ी सहकारी समिति है.

इफको ने उर्वरकों के अपने मूल व्यवसाय के अतिरिक्त आम बीमा, ग्रामीण खुदरा व्यापार, कृषि वानिकी, ग्रामीण दूरसंचार, कृषि रसायन, ग्रामीण वित्त, वस्तु परिवहन-व्यवस्था और विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईज़ेड) में भी अपना व्यापार फैलाया है. इफको ने खाद्य प्रसंस्करण, जैविक उत्पादों और शहरी बागवानी के लिये पोषक तत्वों के उत्पादन संबंधी व्यापार में भी कदम रखा है.

इफको की इस कामयाबी पर खुशी व्यक्त करते हुये इफको के प्रबंध निदेशक डॉ. उदय शंकर अवस्थी ने कहा कि वैश्विक और आर्थिक चुनौतियों से भरे वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान इफको ने जिस शानदार तरीके से कार्य किया है, वह अविश्वसनीय है. उन्होंने आगे कहा कि किसानों के कल्याण हेतु इफको द्वारा देश के कोने-कोने में उठाए गए विविध कदमों से न केवल राष्ट्र निर्माण में बल्कि वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के माननीय प्रधानमंत्री जी के सपने को साकार करने में भी मदद मिलेगी. मुझे विश्वास है कि इनके जरिये समिति आने वाले समय में अपने कारोबार का तीव्र विस्तार करते हुए नई ऊंचाइयों को छुएगी.

गौरतलब है कि व्यापारिक और राजनीतिक मामलों की पत्रिका फेम इंडिया ने अपने ताजा विशेष ऑनलाइन संस्करण में भारत के 50 सर्वाधिक प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची में इफको के प्रबंध निदेशक डॉ. उदय शंकर अवस्थी को 40वां स्थान दिया है. इस मुश्किल समय में कोविड-19 के खिलाफ लड़ने में किसान भाइयों की मदद के लिए इफको पूरी तरह प्रतिबद्ध है ताकि वे राष्ट्र के लिए अधिक से अधिक फसल पैदा कर सकें.

IFFCO Urban Urban Gardening Range: इफको की सहयोगी एक्वा जीटी ‘अरबन गार्डेनिंग प्रोडक्ट रेंज’ के साथ शहरी बागवानी के क्षेत्र में रखा कदम

IFFCO signs MoU with ICAR: 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य को पूरा करने साथ आए इफको और आईसीएआर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर