नई दिल्ली: उर्वरक क्षेत्र की विश्व की सबसे बड़ी सहकारी संस्था इंडियन फर्टिलाइजर कॉपरेटिव लिमिटेड इफको ने उर्वरकों में पोषण की जरूरतों को पूरा करने के लिए सिरियस मिनरल्स पीएलसी से पॉली-4 को आयात करने का फैसला किया है. इस समझौते के बाद इफको हर साल सिरियस से 10 लाख टन पॉली-4 का आयात करेगा. दोनों संगठनों ने ये समझौता आठ साल के लिए किया है जिसे आगे बढ़ाया भी जा सकता है. यही नहीं इफ्को पॉली-4 का आयात 12.5 लाख टन भी कर सकती है.

यही नहीं तय हुआ है कि अगर ऐसा होता है तो समझौते की अवधि को अगले दस साल के लिए बढ़ा दिया जाएगा. गौरतलब है कि भारत विश्व की तीसरा सबसे बड़ी फर्टिलाइजर मार्केट है जहां हर साल तीन करोड़ टन से ज्यादा उर्वरक की खपत होती है. देश में बढ़ती जनसंख्या के हिसाब से तेजी से फसल की मांग के चलते उर्वरक की मांग भी बढ़ रही है. दोनों संस्थाओं के बीच हुए इस समझौते के बाद भारत में फसलों की उत्पादकता काफी बढ़ जाएगी. 

इस मौके पर इफ्को के प्रबंध निदेशक डॉ यू एस अवस्थी ने कहा कि पॉली-4 के इस्तेमाल से फसलों की उत्पादन क्षमता बढ़ेगी जिससे किसानों की आय में बढ़ोतरी होगी. उन्होंने कहा कि पॉली-4 में में पोषण क्षमता है जिससे मिट्टी की उपजाऊ क्षमता काफी बढ़ जाती है और मिट्टी को सालों तक इसका फायदा मिलता है. डॉ. अवस्थी ने कहा कि इफको मिट्टी की उपजाऊ क्षमता को बरकार रखने के अपने मिशन के तहत ये कदम उठा रहा है. मिट्टी की अच्छी गुणवत्ता हमारे किसानों को ज्यादा से ज्यादा फसल उगाने के लिए प्रेरित करेगा जिससे किसानों की आय तेजी से बढ़ेगी जिससे पीएम नरेंद्र मोदी को उस सपने को पूरा करने में मदद मिलेगी जिसमें उन्होंने कहा था कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी होगी. 

सिरियस के प्रबंध निदेशक क्राइस फ्रेसर ने इफ्को के साथ हुए समझौते पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि पॉली-4 का भारतीय खेती पर अच्छा और सकारात्मक असर पड़ेगा जिसका सालों तक किसानों को लाभ पहुंचेगा.

CN-IFFCO Food Processing Plant in Ludhiana: पंजाब के लुधियाना में सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने रखी CN-IFFCO फूड प्रोसेसिंग यूनिट की आधारशिला

IFFCO AGM BS Nakai Chairman Dileep Sanghani Vice Chairman: इफको के एजीएम में बलविंदर सिंह नकई चेयरमैन और दिलीप संघानी वाइस चेयरमैन चुने गए

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर