नई दिल्ली. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बार फिर भारत पर हमला बोला है. इस बार उन्होनें भारत की केंद्र सरकार को फासीवादी मानसिकता का बताया है. इमरान खान ने कहा कि भारत की सरकार आरएसएस विचारधारा से ग्रसित है. यहीं कारण है कि वहां कि सरकार कश्मीर वासियों पर पिछले 100 दिनों से जुल्म ढहा रहे हैं और भारत शासित कश्मीर की घेराबंदी कि घेराबंदी किये हुई है. भारत सरकार कश्मीर वासियों के मानवाधिकारों का हनन कर रही है. कश्मीर के लोग भारत से सरकार से डरे हुए हैं. भारत सरकार अपनी कमियों को छुपाने के लिए वहां पर मीडिया को बैन कर दिया है. ताकि वहां कि खबर दुनिया के सामने न आये. आपको बता दें कि इमरान खान अक्सर पीएम मोदी पर कश्मीर की नीतियों को लेकर हमला करते रहते हैं. जब भी उन्हें मौका मिलता है वो भारत की बीजेपी सरकार को नीचा दिखाते हैं.

  1. भारत सरकार ने कश्मीर से जब से धारा 370 हटाई है तब से पाकिस्तान सरकार काफी परेशान है. इसका एक उदाहरण बुधवार को भी देखने को मिला. बुधवार यानी कि 27 नवंबर को इमरान खान ने एक सुबह 9 बजकर 42 मिनट पर middle east eye में छपी एक खबर का हवाला देते हुए ट्विट कर कहा.
  2. अपने ट्विट में इमरान खान ने अन्य शक्तिशाली देशों के कश्मीर मुद्दें पर न बोलने के लिए गलत बताया. उन्होंने कहा कि व्यापारिक लाभ के लिए दुनिया के शक्तिशाली देश भारत के खिलाफ नहीं बोल रहे हैं, जबकि यह सब जानते हैं कि कश्मीर के लोगों के साथ गलत हो रहा है.
  3. बताते चलें कि  न्यूयॉर्क सिटी में शनिवार को एक निजी कार्यक्रम में संयुक्त राज्य में भारत के कौंसुल जनरल कश्मीर में इजरायली मॉडल लाने पर अपनी बात रख रहे थें. कार्यक्रम में न्यूयॉर्क में इंडियन कौंसुल जनरल संदीप चक्रवर्ती ने कहा है कि इजराइल की तरह भारत कश्मीर में हिंदू आबादी की वापसी के लिए उसी मॉडल की बस्तियों का निर्माण करेगा. उन्होंने कहा, अगर इजराइल ये कर सकता है तो भारत ऐसा क्यों नहीं कर सकता है.
  4. यह कार्यक्रम भारतीय फिल्म निर्माता विवेक अग्निहोत्री की आगामी परियोजना के बारे में चर्चा करने के लिए आयोजित किया गया, जो 1990 के दशक की शुरुआत में कश्मीरी हिंदुओं के जबरन विस्थापन पर बनी थी, चक्रवर्ती ने उपस्थित लोगों से सरकार को इसे लागू करने के लिए कुछ समय देने को कहा.