नई दिल्ली. भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और रूस की स्पुतनिक-V लगवाने वाले छात्रों को अगर अमेरिका पढ़ने जाना है तो आपके लिए बुरी खबर है। आपको फिर से वैक्सीन लगवानी पड़ सकती है। कई अमेरिकी यूनिवर्सिटीज ने कोवैक्सीन और स्पुतनिक-V लगवा चुके छात्राओ, छात्रों को दोबारा वैक्सीन लगवाने का निर्देश दिया गया है।

ऐसे लाखों छात्राएं और छात्र हैं जो कोवैक्सीन और स्पुतनिक-V की दोनों डोज ले चुके हैं, लेकिन उनसे अमेरिका आने पर फिर से वैक्सीन लगवाने को कहा गया है। ऐसे में छात्रों में अब ये डर भी सता रहा है कि दो अलग-अलग वैक्सीन लगवाना कितना सेफ होगा?

अमेरिकी वेबसाइट न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, मार्च से लेकर अब तक अमेरिका की 400 से ज्यादा यूनिवर्सिटी ऐसा आदेश जारी कर चुकी हैं जिसमें ऐसे स्टूडेंट्स को दोबारा वैक्सीन लगवाने को कहा गया है जिन्होंने कोवैक्सीन और स्पुतनिक-V लगवाई है।

मालूम हो कि कोवैक्सीन और स्पुतनिक-V को अभी तक डब्ल्यूएचओ से मंजूरी नहीं मिली है, इसलिए अमेरिकी यूनिवर्सिटीज ने इन वैक्सीन को लगवा चुके छात्रों को अमेरिका आने पर दोबारा डब्ल्यूएचओ से एप्रूव्ड वैक्सीन लगवाने को कहा है।

Petrol and Diesel Prices Hike : पेट्रोल-डीजल के दामों में आग, कई जगहों पर शतक का आंकड़ा पार, जाने अपने शहर की कीमत

Pakistan Train Collapsed : पाकिस्तान में भीषण रेल हादसा, आमने-सामने से टकराईं दो ट्रेन, 30 की मौत, 50 से ज्यादा घायल