नई दिल्ली. इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा परिषद (सीआईएससीई) अब असफल कैंडिडेट्स को 2019 से उसी वर्ष परीक्षा उत्तीर्ण करने का दूसरा मौका देगी. सीआईएससीई सचिव गेरी अराथून ने कहा कि संबंधित बोर्ड के रिजल्ट जारी  होने के बाद आईएससी के कैंडिडेट्स को को चौथे विषय और आईसीएसई उम्मीदवारों के पांचवें विषय में विफल होने पर उन्हें दूसरा मौका मिलेगा.

अराथून शुक्रवार को इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट कॉन्फ्रेंस के लिए एसोसिएशन ऑफ स्कूलों में प्रतिभागियों को संबोधित कर रहे थे तभी उन्होंने ये बातें कहीं. यदि कक्षा 12 के छात्र, अंग्रेजी और दो अन्य विषयों में पास होते हैं, लेकिन चौथे विषय में नहीं होते और कक्षा 10 के छात्र अंग्रेजी समेत तीन अन्य विषयों में पास होते हैं लेकिन पांचवें विषय में फेल हो जाते हैं तो उन्हें एक साल बर्बाद नहीं करना होगा. अराथून ने कहा कि वे उम्मीदवार जून- जुलाई में सप्लीमेंट्री एग्जाम के लिए बैठ सकते हैं. सीआईएससीई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अराथून ने कहा कि कंपार्टमेंट परीक्षा के रिजल्ट अगस्त तक सामने आ सकते हैं ताकि सफल छात्रों आगे की पढ़ाई के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकें.

आम तौर पर आईसीएसई और आईएससी के नतीजे मई के अंत तक आ जाते हैं. ऐसे में अगर फेल होने वाले छात्रों की परीक्षाएं तुरंत करा दी जाती है और नतीजे अगस्त तक आ जाते हैं तो छात्र उसी साल उच्च शिक्षा के लिए फॉर्म भर सकते हैं.

CBSE Exams 2019 Class 10 Science Sample Paper: सीबीएसई 10वीं विज्ञान की परीक्षा का सैम्पल पेपर, हिंदी में

CISCE Board Exam 2018: बोर्ड परीक्षा की डेटशीट जारी, 07 और 26 फरवरी से होंगी 10वीं ICSE और 12वीं ISC की परीक्षाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App