लंदन. भारत बनाम बांग्लादेश मुकाबले में टॉस भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. पिछला मुकाबला हार चुकी टीम इंडिया इस मैच से सेमीफाइनल की राह पक्की करने उतरी थी. टॉस के बाद दोनों टीमों के खिलाड़ी मैदान पर आते हैं. इसके बाद दोनों देशों का राष्ट्रगान बजाया जाता है. खिलाड़ी, दर्शक सभी खड़े होकर अपने राष्ट्रगान को गाते हैं. इसी दौरान सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर रविंद्रनाथ टैगोर ट्रेंड करने लगते हैं. क्रिकेट के मैच के दौरान विश्वकवि रविंद्रनाथ टैगोर के ट्रेंड होने की वजह जान कर आप भी गर्व से भर उठेंगे. दरअसल गुरुदेव रविंद्रनाथ ठाकुर दुनिया के पहले और इकलौते ऐसे व्यक्ति हैं जिनके लिखे दो गीत दो मुल्कों के राष्ट्रगान बन चुके हैं. यह तो सभी जानते हैं कि भारत का राष्ट्रगान, जन गण मन, रविंद्रनाथ टैगोर ने लिखा है लेकिन क्या आप जानते हैं कि बांग्लादेश का राष्ट्रगान भी रविंद्रनाथ टैगोर ने ही लिखा है.

इस वर्ल्डकप में भारत ने अपना पिछला मैच इंग्लैंड से खेला था. इस मैच के दौरान पाकिस्तान, बांग्लादेश के फैन्स भी भारतीय टीम की जीत की दुआ कर रहे थे. दरअसल, भारत के इंग्लैंड को हराने की सूरत में पाकिस्तान और बांग्लादेश दोनों को फायदा होता. इंग्लैंड, वर्ल्डकप से बाहर हो जाता. ऐसे में पाकिस्तान और बांग्लादेश दोनों की संभावनाएं जीवित रहतीं. हालांकि भारत यह मैच 31 रनों से हार गया. लेकिन इस दौरान एक युनाइटेड इंडिया की तस्वीर देखने को मिली. हमेशा एक दूसरे से नफरत की भाषा बोलने के अभ्यस्त भारत और पाकिस्तान के फैन्स इस मुकाबले से पहले एक सुर में बात कर रहे थे.

भारत की जीत की दुआएं पाकिस्तान में हो रही थीं. पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी शोएब अख्तर ने भी अपने वीडियो में कहा कि वो भारत की जीत की दुआएं मांगेंगे और सारे पाकिस्तान से भी यहीं कहेंगे कि भारत की जीत के लिए दुआ करो. जाहिर है भारत की जीत से पाकिस्तान को वर्ल्ड कप में फायदा होता. अपने हित के लिए वो भारत का समर्थन कर रहे थे. लेकिन इस मैच से पहले कभी भारत का हिस्सा रहे पाकिस्तान और बांग्लादेश ने जिस तरह हिंदुस्तान का समर्थन किया उसने इस वर्ल्ड कप में नया फ्लेवर जोड़ दिया. क्रिकेट जोड़ता भी है लोगों को इसका इससे अच्छा उदाहरण क्या हो सकता है.

रविंद्रनाथ ठाकुर, रविंद्रनाथ टैगोर कैसे बने
रविंद्रनाथ टैगोर एशिया के पहले साहित्यकार थे जिन्हें नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. उनके कविता संग्रह गीतांजलि के लिए उन्हें साहित्य का नोबेल मिला था. रविंद्रनाथ टैगोर के नाम के पीछे भी एक दिलचस्प कहानी है. उनका असली नाम रविंद्रनाथ ठाकुर है. अंग्रेज ठाकुर शब्द का उच्चारण नहीं कर पाते थे, और ठाकुर की जगह ठैकोर जैसा कुछ बोला करते थे. यहीं बाद में टैगोर हो गया. आज दुनिया में अधिकांश लोग उन्हें रविंद्रनाथ टैगोर के नाम से ही जानते हैं लेकिन उनका असली नाम रविंद्रनाथ ठाकुर है. शांति निकेतन जो बाद में विश्व भारती नाम से यूनिवर्सिटी बना, उसकी स्थापना कर गुरुदेव ने समाज में ज्ञान की परंपरा के महत्व को समझा. गुरुदेव रविंद्रनाथ ठाकुर का वैश्विक महत्व है, जो कभी खत्म नहीं हो सकता. हम भारतीय लोगों को अभी उनका सही महत्व नहीं मालूम.

Virat Kohli Fan Charulata Patel Photo Social Media Reaction: वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पहुँची टीम इंडिया, विराट कोहली ने लिया बुजुर्ग फैन चारूलता पटेल का आशीर्वाद, सोशल मीडिया पर फैंस ने जमकर शेयर की फोटो

Virat Kohli Fan Charulata Patel Photo: टीम इंडिया की जीत के बाद विराट कोहली ने मैदान के बाहर भी जीता फैन्स का दिल, देखें फोटो

One response to “ICC CWC Ind Vs Ban Rabindranath Tagore: वर्ल्ड कप में भारत बनाम बांग्लादेश मुकाबले में ट्विटर पर ट्रेंड करने लगे रविंद्रनाथ टैगोर, जानें क्यों”

  1. भाई ये और बता देते कि ये जो हमारा राष्ट्रगान है क्यों और किसके लिए लिखा गया था ये तो गर्व से बोल दिया कि दोनों देशों के राष्ट्रगान रवीन्द्रनाथ टैगोर ने लिखे थे क्यो लिखे थे ये और बता दो

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App