रांची, झारखंड की खनन सचिव पूजा सिंघल से मंगलवार को करीब नौ घंटे तक प्रवर्तन निदेशालय ने पूछताछ की. खूंटी में मनरेगा राशि की कथित गबन और अन्य आरोपों से जुड़े धनशोधन मामले में IAS अधिकारी पूजा सिंघल को ईडी ने गिरफ्तार कर लिया है.

पूजा सिंघल का सीए गिरफ्तार

जानकारी के लिए बता दें कि ये मामला सालों पुराना है. दरअसल झारखंड में 2009-10 में मनरेगा घोटाला हुआ था, जिसमें पूजा सिंघल भी शामिल थी. उसी मामले में कुछ दिन पहले ED ने एक साथ झारखंड, पश्चिम बंगाल, हरियाणा और राजस्थान में छापेमारी की थी. तब उसी छापेमारी के दौरान ये 19 करोड़ 31 लाख रुपये बरामद किए गए. 19 करोड़ 31 लाख रुपयों में से 17 करोड़ पूजा सिंघल के चार्टर्ड अकाउंटेंट के आवास से बरामद किए गए थे. इस मामले में बीते दिनों पूजा सिंनगल के सीए की भी गिरफ्तारी हुई थी.

कौन है पूजा सिंघल?

पूजा सिंघल झारखंड की सीनियर आईएएस अधिकारी हैं, जो कि वर्तमान में उद्योग एवं खनन सचिव के पद पर कार्यरत हैं, इससे पहले पूजा बीजेपी सरकार में कृषि सचिव के पद पर थी. चर्चित मनरेगा घोटाले के समय भी पूजा खूंटी में डिप्टी कलेक्टर के बाद पर कार्यरत थीं.

बता दें पूजा सिंघल विवादों को लेकर पहली बार चर्चा में नहीं हैं. इससे पहले भी उन पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लग चुके हैं. पूजा जब खूंटी एवं पलामू जिले में डिप्टी कमिश्नर के पद पर कार्यरत थी, तब भी उन पर अनियमितता के आरोप लगे थे.

पांच राज्यों में ईडी की छापेमारी

रांची में कांके रोड के चांदनी चौक स्थित पंचवटी रेजिडेंसी के ब्लाक नंबर नौ, लालपुर के हरिओम टावर स्थित नई बिल्डिंग, बरियातू के पल्स अस्पताल में प्रवर्तन निदेशालय के छापेमारी की जानकारी मिली है. आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल के सरकारी आवास पर भी ईडी के छापेमारी की सुचना है. जानकारी के मुताबिक, कारोबारी अमित अग्रवाल के ठिकानों पर भी छापेमारी की गई है. कारोबारी अमित अग्रवाल मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का करीबी बताया जा रहा है.

 

खबर अपडेट की जा रही है.

मोहाली ब्लास्ट: आरोपी निशान सिंह गिरफ्तार, कई ठिकानों पर पुलिस की छापेमारी जारी

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर