Friday, December 9, 2022
गुजरात नतीजे (182/182)  हिमाचल नतीजे (68/68) 
BJP - 156 BJP - 25
AAP - 05 CONG - 40 
CONG - 17  AAP - 00
OTH - 04  OTH - 03 
Is gold is going to extinct from world

क्या ख़त्म होने वाला है सारी दुनिया का सोना?

0
क्या ख़त्म होने वाला है सारी दुनिया का सोना? सोने का इस्तेमाल आम इंसानों से लेकर दुनिया भर की सरकारें करती हैं। सोने के बग़ैर...

UP Crime: बीवी ने दोबारा सेक्स करने पर जताया ऐतराज़ तो पति ने गला...

0
UP Crime: उत्तर प्रदेश के अमरोहा ज़िले से रिश्तों को तार-तार करने वाला वाकया निकलकर सामने आ रहा है. जहाँ पर एक पति ने...

दिल्ली: कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, MCD चुनाव जीतने वाले पार्षद AAP में शामिल

0
नई दिल्ली. एमसीडी चुनाव के नतीजे आ गए हैं. एमसीडी में आम आदमी पार्टी को पूर्ण बहुमत मिली है. दिल्ली नगर निगम चुनाव के...
MG 4 EV

नए साल पर पेश होने वाली है ये इलेक्ट्रिक कार, मिलेगी 452km की रेंज!

0
MG 4 EV: देश की कार कंपनी एमजी मोटर इंडिया (MG Motor India) अगले साल के आगाज़ में एकदम नई इलेक्ट्रिक कार पेश करेगी।...

Gujarat Muslim Seats: जानिए क्या है गुजरात की मुस्लिम बहुल्य सीटों का हाल?

0
Gujarat Muslim Candidates: गुजरात विधानसभा के नतीजों के बाद साफ़ है कि भारतीय जनता पार्टी ने भारी बढ़त के साथ जीत हासिल की है....

हैदराबाद: अमित शाह की सुरक्षा में बड़ी चूक, TRS नेता ने काफिले के सामने खड़ी की कार

हैदराबाद:

हैदराबाद। तेलंगाना के हैदराबाद से केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की सुरक्षा में चूक का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि राज्य की सत्ताधारी पार्टी टीआरएस के एक कार्यकर्ता नें गृहमंत्री का काफिला रोकने की कोशिश की है। शाह की सुरक्षा में तैनात पुलिसवालों ने उसे जबरन हटाकर रास्ता खाली कराया है।

TRS नेता ने लगाया ये आरोप

तेलंगाना राष्ट्र समिति के नेता ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उनकी कार के साथ तोड़-फोड़ की है। उन्होंने जानबूझकर कार को काफिले के सामने नहीं लगाया था। उनकी कार खराब हो गई थी।

मैं बहुत टेंशन में था-TRS नेता

टीआरएस नेता ने आगे कहा कि वो बहुत टेंशन में थे। उन्हें पुलिस अधिकारियों से बात करनी थी, लेकिन किसी ने बात नहीं सुनी। उन्होंने आगे कहा कि बिना मतलब ही इस मामले को बड़ा बनाया जा रहा है।

कार्यक्रम में हिस्सा लेने गए हैं

बता दें कि, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह इस हैदराबाद के दौरे पर हैं। वो वहां पर केंद्र सरकार के कार्यक्रम हैदराबाद मुक्ति दिवस में हिस्सा लेने गए हैं। कार्यक्रम में शाह मुख्य अतिथि हैं। उनके साथ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे भी हैदराबाद गए हैं।

रजाकारों के डर से पलट गए

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कार्यक्रम में कहा कि वादे तो अनेक लोगों ने किया मगर सत्ता पर आते ही रजाकारों के डर से पलट गए। आज मैं पीएम मोदी को बधाई देना चाहता हूं कि उन्होंने निर्णय किया कि हैदराबाद मुक्ति दिवस को मनाया जाएगा।

वोट बैंक के वजह कोई भी….

अमित शाह ने कहा कि इस क्षेत्र में हमेशा से ही ये मांग थी कि हैदराबाद मुक्ति दिवस को सरकार की अनुमोदना के साथ मनाया जाए। लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि 75 साल हो गए, जिन्होंने यहां पर शासन किया उन्होंने वोटबैंक की राजनीति के कारण हैदराबाद मुक्ति दिन मनाने का साहस नहीं दिखाया।

बिहार में अपना CM चाहती है भाजपा, नीतीश कैसे करेंगे सियासी भूचाल का सामना

Latest news