नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने काफी तबाही मचाई है।.अभी भी 24 घंटों में तकरीबन 4 हजार से ज्यादा लोगों की मौतें हो रही हैं। दूसरी लहर की जो सबसे भयावह तस्वीर उभरकर सामने आई है वो है फेफड़ों के संक्रमण की। ये नया म्यूटेंट सीधे फेफड़ों पर वार करता है। जिसकी वजह से सांस लेने में समस्या आने लगती है।

हाल ही में जिस तरह से ऑक्सीजन को लेकर मारामारी हुई। अचानक से ऑक्सीजन सिलेंडर कम पड़ गए और लाशों के जलाने और दफनाने के लिए जगह तक नहीं बची ये सब इस नए म्यूटेंट की वजह से ही हुआ, जिसने सीधे फेफड़ों को संक्रमित किया।

वायरस के इस तरह से फेफड़ों को खराब करने पर अब आपके जहन में सीधा सा सवाल उठना लाजमी है कि आखिर हम अपने फेफड़ों को कैसे स्वस्थ रखें और कैसे जाने कि हमारे फेफड़े कितने सही है। यूं तो फेफड़ों की स्थिति जानने के लिए चेस्ट का टेस्ट कराना पड़ता है लेकिन ये नौबत गंभीर स्थिति में आती है। हम आपको बताते हैं कि कैसे आसानी से हम ये जांच सकते हैं कि हमारे फेफड़े कितने स्वस्थ हैं।

वीडियो के जरिए आसानी से जांचे

जाइडस हॉस्पिटल की ओर से ट्वीट किए गए वीडियो से हम जांच सकते हैं कि हमारे फेफड़े कितने स्वस्थ हैं।

आपको करना ये है कि सांस रोकनी है और घूमती हुई लाल गेंद को देखना है। गेंद कितनी बार घूमती है उतने नम्बर आपको मिलेंगे। यानी जितने ज्यादा बार घूमती हुई गेंद तक आप सांस रोक लेंगे आपका फेफड़ा उतना ही स्वस्थ है। तो इस वीडियो को देखकर ये प्रयास किया जा सकता है। इसके लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है। लेकिन ये महज फेफड़ों को जांचने का तरीका है। यहां हम आपको ये भी सलाह देंगे कि अगर सांस लेने में आपको ज्यादा तकलीफ हो तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

बाकी इसके अलावा आपको अपना ख्याल रखने के लिए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी है। बेहतर सांस के लिए जरूरी है कि घर में वेंटिलेशन अच्छा हो। इसके अलावा अगर आप सांस के मरीज हैं तो आपको धूल भरी जगहों पर जाने से बचना चाहिए.

Delhi Extend Lockdown : दिल्ली में 24 मई तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, पहले जैसी होगी सख्ती, मेट्रो सेवा भी रहेगी बंद

Petrol and Diesel Prices Hike : पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी जारी, कई जगह पेट्रोल 100 के पार, जाने अपने शहर का दाम