नई दिल्ली. जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की जेल में कैद कुलभूषण जाधव को लेकर सपा नेता नरेश अग्रवाल के विवादित बयान पर नाराज हिंदू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि ने एक न्यूज चैनल से कहा कि कि ‘नरेश अग्रवाल जैसे नेता राष्ट्रद्रोही हैं और उन्हें गोली मार देनी चाहिए.’ चक्रपाणि ने कहा कि, ‘पाकिस्तान भी कुलभूषण जाधव को आतंकी मानता है और भारत के नेता नरेश अग्रवाल भी कहते हैं कि वह आतंकी हैं. हमें लगता है पाकिस्तान जो हमारे सैनिकों को सीमा पर मार रहा है, उसमें ऐसे नेता उसका साथ दे रहे हैं. ऐसे नेताओं को सबसे पहले गोली मार देनी चाहिए. ऐसे नेता तो देश के लिए बहुत ज्यादा खतरा हैं. सरकार को कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए. यह लोग राष्ट्रद्रोही लोग हैं.’

दरअसल नरेश अग्रवाल में पाकिस्तान में कुलभूषण जाधव के साथ हो रहे बर्ताव को लेकर कहा था कि ‘पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को अपने देश में आतंकवादी माना है, तो वह उस हिसाब से व्यवहार करेंगे. हमारे देश में भी आतंकवादियों के साथ ऐसा ही कड़ा व्यवहार करना चाहिए. पाकिस्तान की जेलों में सैकड़ों भारतीय बंद हैं, ऐसे में उनकी भी बात होनी चाहिए, सिर्फ जाधव की नहीं.’ इस बयान के अलावा नरेश अग्रवाल ने जाधव को लेकर राज्‍य सभा के अध्‍यक्ष को एक पत्र भी लिखा थी.

इस बयान से भाजपा के नेताओं में काफी नाराजगी देखने को मिली है. बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने इसपर कहा है कि या तो नरेश अग्रवाल अपने बयान के लिए माफी मांगे या फिर उनकी संसद सदस्यता खत्म की जाए. बता दें कि नरेश अग्रवाल के इस बयान से बवाल मचने का एक बड़ा कारण यह भी था कि हाल ही में दरियादिली के नाम पर पाकिस्तान ने कुलभूषण की मां और पत्नी को उनसे मिलाते हुए उनके साथ बेहद ही अमानवीय व्यवहार किया जिससे पूरे भारत में नाजारगी दिखाई पड़ी रही है. पाकिस्तान ने मुलाकात के वक्त कुलभूषण और उनकी मां- पत्नी के बीच शीशे की दीवार रखी थी जिससे 21 माह बाद उनसे मिल रहे कुलभूषण उनको गले तक नहीं लगा सके. 

कुलभूषण जाधव पर सपा नेता नरेश अग्रवाल के बयान से मचा बवाल, संसद सदस्यता खत्म करने की मांग

कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी के साथ हुए सलूक पर भारत की कड़ी प्रतिक्रिया पर बोला पाकिस्तान, जाधव की पत्नी के जूतों में कुछ संदिग्ध था

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App