उत्तराखंड, इन दिनों प्रकृति अपना रौद्र मंज़र दिखा रही है, बादल कहर बनकर बरस रहे हैं. ऐसे में उत्तराखंड और केरल में स्थिति सबसे ज्यादा खराब है. एक ओर केरल में जहाँ बाढ़ में 20 से ज्यादा लोगों के मौत हो गई तो वहीं उत्तराखंड में नदियों के जलस्तर ( Heavy rain in Uttarakhand ) बढ़ने से रेलवे ट्रैक तक बह जा रहे हैं. ऐसा ही मंज़र नैनीताल में देखने को मिल रहा है. नैनीताल में गौला नदी में जलस्तर बढ़ने की वजह से काठगोदाम रेलवे स्टेशन का ट्रैक ही बह गया.

काठगोदाम रेलवे स्टेशन की 100 मीटर पटरी नदी में

उत्तराखंड में भारी बारिश का कहर है, बारिश से इलाके जलग्रस्त हैं. यूँ तो इस समय बे मौसम बरसात का असर हर राज्य में देखने को मिल रहा है, लेकिन केरल और उत्तराखंड में आसमानी आफत सबसे ज्यादा देखने को मिल रही है. लगातार बारिश होने से रेलवे स्टेशन के आसपास खतरा बढ़ गया है, जिला प्रशासन ने भी आसपास के क्षेत्रों में लोगों को सावधान रहने की अपील की है. रेलवे पटरी के आसपास रहने वाले लोगों को भी भारी बारिश के चलते खतरा बना हुआ है. वहीं रेलवे स्टेशन प्रशासन बाढ़ से बचने के लिए प्रयास करने में जुटा हुआ है. स्टेशन के बहने की वजह से रेलवे प्रसाशन में हड़कंप मचा हुआ है. उत्तराखंड में मौसमी कहर को देखते हुए चारधाम की यात्रा स्थगित कर दी गई है.

इन राज्यों में जारी अलर्ट

पिछले कई दिनों से देश के अलग-अलग राज्यों में भारी बारिश हो रही है. नदियां अपने उफान पर है, ऐसे में बारिश से सबसे ज़्यादा दिक्कत का सामना आमजन को करना पड़ रहा है. भारी बारिश से कई इलाके जलमग्न है, बारिश के चलते लोग रास्तों पर फसे हुए हैं, लोग अपने काम पर नहीं जा पा रहे हैं. बारिश के चलते आमजन की दिनचर्या प्रभावित हुई है. भारी बारिश के चलते उत्तर भारत और मध्य भारत में रेड अलर्ट भी जारी किया गया है.

यह भी पढ़ें :

Indian Railways Special trains : दिवाली से पहले रेलवे की स्पेशल तैयारी, चला रहा स्पेशल ट्रेन्स

Army Chief in Jammu and Kashmir सेना प्रमुख पहुंचे जम्मू-कश्मीर, पुंछ में चल रही भुठभेड़ की ली जानकारी