चंडीगढ़ः हरियाणा में प्रस्तावित जाट इकाई व भाजपा सांसद की प्रस्तावित रैलियों के मद्देनजर अलर्ट जारी कर दिया गया है. हरियाणा पुलिस ने कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए राज्य के लगभग 13 जिलों में पर्याप्त संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए है. बता दें कि जाट आरक्षण पर बीजेपी सांसद और जाट आरक्षण समिति आमने-सामने आ गए हैं. आज इस मसले पर दो जनसभाएं होने वाली हैं एक तरफ अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने रोहतक में रैली बुलाई है, वहीं दूसरी तरफ आरक्षण के विरोध में कुरुक्षेत्र में बीजेपी सांसद राजकुमार सैनी जींद में समानता महासम्मेलन कर रहे हैं.

हरियाणा के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) मुहम्मद अकील ने इस संबंध में कहा ‘‘स्थिति शांतिपूर्ण एवं नियंत्रण में है.’’ उन्होंने सुरक्षाकर्मियों की संख्या का ब्योरा दिए बिना कहा, ‘‘हमने 12 से 13 जिलों में पर्याप्त बल तैनात किए हैं.’’ अधिकारी ने कहा कि राज्य ने रोहतक और जींद जिलों में हो रहीं दो रैलियों के मद्देनजर केंद्र से अर्द्धसैनिक बलों की 25 कंपनियां भी मांगी हैं. उन्होंने कहा कि हालांकि अर्द्धसैनिक बलों का पहुंचना अभी बाकी है. जींद से मिले समाचार के मुताबिक, कुरूक्षेत्र के सांसद राजकुमार सैनी की 26 नवम्बर की जींद में प्रस्तावित रैली को लेकर कंडेला गांव में लगाया गया जाम बीते शनिवार को भी जारी रहा. हालांकि पुलिस ने देर शाम को गांव के लोगों की मदद से जाम खुलवा दिया.

इंटरनेट पर लगाया जा चुका है बैन

सरकार ने पहले ही सूबे के 13 जिलों में इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी गई है. सरकार की तरफ से तीन दिनों के लिए इंटरनेट सेवाएं निरस्त की गई हैं, जो 26 नवंबर को आधी रात तक बंद रहेंगे. अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के प्रमुख यशपाल मलिक रोहतक जिले के जसिया गांव में रैली करेंगे. जिसमें केंद्रीय इस्पात मंत्री बीरेंद्र सिंह और इनेलो के नेता अभय चौटाला भी हिस्सा लेंगे.

यह भी पढ़ें- महाबहस: पाटीदारों को आरक्षण देने का वादा कैसे पूरा करेगी कांग्रेस?

यह भी पढ़ें- हरियाणाः आरक्षण को लेकर टकराव, रैलियों से पहले मोबाइल-इंटरनेट सेवाओं पर रोक

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App