नई दिल्ली: पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने शनिवार को एक कार्यक्रम में हाल ही में हुए गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है. दरअसल, हार्दिक पटेल ने कहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से चुनाव के दौरान मुलाकात ना करना उनकी एक भूल थी. आगे हार्दिक ने कहा कि अगर उस दौरान राहुल गांधी से भेंट की होती तो भाजपा गुजरात में बहुमत से नहीं आती. इसके साथ ही हार्दिक ने कहा कि अगर वे चुनाव में नीतीश कुमार और( शिवसेना अध्यक्ष) उद्धव ठाकरे से मिल सकता हूं तो राहुल गांधी से मिलने में मुझे कोई दिक्कत नहीं थी और उनसे न मिलना एक भूल थी. अगर ऐसा न होता तो भाजपा 99 नहीं 79 सीटें जीतती.

वहीं हार्दिक पटेल ने देश के पीएम नरेंद्र मोदी के बारे में कहा कि “जब वे प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार थे तो हमने भी उन्हें वोट दिया था. हमने सोचा कि अब देश की युवाओं को रोजगार मिलेगा, देश के किसानों को फसल का सही दाम मिलेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ.” वहीं प्रोग्राम में हार्दिक पटेल ने कहा कि रोजगार मांगना, अच्छी शिक्षा मांगना को अगर कोई कास्ट पॉलिटिक्स कहता है तो ये मेरी समझ के बाहर है.

इसके साथ ही हार्दिक पटेल ने कहा कि गुजरात सरकार ने स्कूल फीस को लेकर नियम बनाए हैं इसके बाद भी सभी निजी स्कूल अपनी मर्जी से फीस वसूल रहे हैं. ऐसे में वहां कोई भी रोक लगाने वाला नहीं है. आगे हार्दिक पटेल ने कहा कि उन्होंने एसटी-एससी, ओबीसी समाज का कभी विरोध नहीं किया. एक बड़ी बात यह है कि गुजरात के अंदर कुछ अच्छा करने का मौका मिला था, हम लोगों का मानना था कि समाज के सभी लोगों को उनका अधिकार मिलना चाहिए.

मन की बात में बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारत महिलाओं के विकास से महिलाओं के नेतृत्व में विकास की ओर बढ़ रहा है

राहुल गांधी को लेकर हार्दिक पटेल का बड़ा बयान, बोले- वो मेरे नेता नहीं, सक्रिय राजनीति में आएं प्रियंका गांधी

मेघालय में सरकार बनाने को लेकर बीजेपी पर जमकर बरसे राहुल गांधी, कहा- पैसों के दम पर सत्ता छीन रही है भाजपा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App