नई दिल्ली. नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने जानकारी दी है कि साल 2019 में भारत से रिकॉर्ड 2 लाख लोग मक्का मदीना सऊदी अरब हज के लिए जाएंगे जिनमें 48 फीसदी महिलाएं शामिल होंगी. इस साल 1 लाख 60 हजार लोग हज कमिटी से हज के लिए जा रहे हैं जबकि 40 हजार लोग हज ग्रुप ऑर्गेनाइजेशन के जरिए हज करने के लिए पहुंचेंगे. वहीं करीब 2 हजार 340 महिलाएं बिना महरम ( यानी किसी पुरुष साथी – बाप, भाई, पति, बेटा) हज पर जा रही हैं. पिछले साल महज 1180 महिलाएं ही बिना महरम हज करने गई थीं.

गौरतलब है कि देश को आजादी मिलने के बाद पहली बार सर्वाधिक 2 लाख श्रद्धालु भारत से सऊदी अरब हज के लिए जा रहे हैं. केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने बताया कि ये सभी 2 लाख श्रद्धालु बिना किसी सब्सिडी के देशभर के 21 एयरपोर्टों से हज करने के लिए जा सकेंगे. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार के हज कोटा बढ़ाने के बाद सबसे पहले उत्तर प्रदेश, बिहार, वेस्ट बंगाल और आंध्र प्रदेश के लोगों के आवेदन लिए गए हैं. क्योंकि पहले हज का कम कोटा होने की वजह से इन बड़े राज्यों के अधिकतर आवेदन रिजेक्ट कर दिए जाते थे.

भारत से हज के लिए जा रहे श्रद्धालुओं के लिए सूऊदी अरब में भी खास इंतजाम किए गए हैं. हज यात्रियों की सेहत की देखबाल के लिए सऊदी के मक्का शहर में 16 और मदीना में 3 हेल्थ सेंटर्स बनाए गए हैं. इससे पहले भारतीय हज यात्रियों को 2 दिन की स्पेशल ट्रेनिंग भी दी जाएगी जिसमें उन्हें मक्का, मदीना में रहने-खाने की सुविधा, परिवहन, हेल्थ साधनों और सुरक्षा को लेकर जरूर जानकारी दी जाएगी.

हज यात्रा के लिए पहले फेज की पहली उड़ान 4 जुलाई को दिल्ली, गया, गुवाहाटी और श्रीनगर से भरी जाएगी. जबकि बेंगलुरु और कालीकट से 7 जुलाई, गोवा से 13 जुलाई, कोच्चि और मुंबई से 14 जुलाई, मैंगलोर से 17 जुलाई, श्रीनगर और मुंबई से ही 21 जुलाई को सऊदी अरब के लिए उड़ान भरी जाएगी. वहीं हज यात्रा के दूसरे चरण में अहमदाबाद, जयपुर और लखनऊ से 20 जुलाई, भोपाल और रांची से 21 जुलाई, ओरंगाबाद से 22 जुलाई, कोलकाता और नागपुर से 25 जुलाई, हैदराबाद से 26 जुलाई, वाराणसी से 29 और चेन्नई से 31 जुलाई को हज यात्री सऊदी के लिए रवाना होंगे.

Triple Talaq Bill Passed In Lok Sabha: तीन तलाक बिल को पेश करने वाला विधेयक लोकसभा में पास, जेडीयू का विरोध, विपक्ष और कांग्रेस सांसदों का हंगामा

US Report On Attacks On Minorities by Hindu Groups In India: अमेरिकी रिपोर्ट का दावा- नरेंद्र मोदी सरकार में धार्मिक स्वतंत्रता खतरे में, हिन्दू कट्टरपंथी संगठनों का अल्पसंख्यकों पर हमला जारी, भारत ने किया खंडन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App