लाहौरः मुंबई हमले का मास्टरमाइंड और आतंकी संगठन जमात-उद-दावा (जेयूडी) और लश्कर-ए-ताइबा प्रमुख हाफिज सईद ने रिहाई के बाद फिर कश्मीर की रिहाई का राग अलापा है. गुरुवार आधी रात को मियाद खत्म होने के बाद पाकिस्तान सरकार ने उसे रिहा कर दिया था. उसने कहा कि कश्मीर की लड़ाई के लिए पूरे पाकिस्तान से लोगों को इकट्ठा करेगा और कश्मीरियों को आजादी दिलाएगा. मालूम हो कि संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका द्वार हाफिज सईद को आतंकी घोषित किया जा चुका है. इसके साथ ही जमात-उद-दावा और लश्कर-ए-ताइबा के प्रमुख सईद पर अमेरिकी सरकार ने एक करोड़ डॉलर (65 करोड़ रुपये) का ईनाम घोषित कर रखा है. पाकिस्तान सरकार ने उसे इस साल जनवरी में नजरबंद किया गया था, लेकिन बुधवार को अदालत ने उसे नजरबंदी से रिहा करने का आदेश दिया.

रिहाई के बाद हाफिज सईद ने कहा कि, ‘मुझे 10 महीने तक नरजबंद रखा गया ताकि मुझे कश्मीर पर बोलने से रोका जा सके।’ उसने कहा, ‘मैं कश्मीरियों के हक की लड़ाई लड़ता हूं। मैं कश्मीर के लिए पूरे देश से लोगों को जुटाऊंगा और हम कश्मीरियों को उनकी आजादी की मंजिल पाने में मदद करेंगे।’ रिहाई के बाद विदेश मंत्रालय की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका द्वारा आतंकी घोषित किए जा चुके सईद की रिहाई से यह साफ हो गया है कि पाकिस्तान आतंकवाद का जहर फैलाने वाले के खिलाफ कार्रवाई को लेकर कतई गंभीर नहीं है।

जेयूडी चीफ ने कहा कि भारत के कहने पर अमेरिका ने पाकिस्तान पर मुझे हिरासत में लेने का दबाव डाला। हाफिज ने कहा, ‘पाकिस्तानी सरकार पर अमेरिका के दबाव के कारण मुझे हिरासत में लिया गया। अमेरिका ने ऐसा भारत के कहने पर किया।’ लाहौर के जौहर टाउन स्थित हाफिज के घर के बाहर उसके कई समर्थक जुटे और उसकी रिहाई का जश्न मनाया। उन्होंने भारत विरोधी नारे लगाए और हाफिज सईद को ‘कश्मीरियों की उम्मीद’ करार दिया।

यह भी पढ़े- हाफिज सईद की रिहाई पर भारत-अमेरिका ने दर्ज की आपत्ति, फिर हिरासत में लिया जा सकता है आतंकी!

यह भी पढ़ें- बाहर आया 26/11 हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद, कहा- भारत मुझे रोक नहीं सकता

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर