अहमदाबाद. गुजरात के मेहसाणा जिले में दलितों के बाल काटने पर नाई की पिटाई का मामला सामने आया है. घटना से पहले आरोपियों ने नाई जिगर को धमकी दी थी कि वो दलितों के बाल नहीं काटे लेकिन नाई ने दलितों के बाल काटने बंद नहीं किए. जिससे नाराज होकर आरोपियों ने नाई की बेरहमी से पिटाई कर दी. नाई जिगर की शिकायत पर सतलसना पुलिस स्टेशन ने 4 लोगों के खिलाफ नामजद मामला दर्ज कर लिय है. पुलिस ने मामले की जांच शुरु कर दी है. पीड़ित के अनुसार चारों आरोपी उंची जाति के हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मेहसाणा जिले के सतलासना के गांव उमेरचा में पीड़ित अपना सैलून चलाता है. पीड़ित के पिता जसीबेन भगवान दास ने लिखित शिकायत में बताया कि कुछ लोगों ने उसके बेटे दलितों के बाल नहीं काटने की चेतावनी दी थी. जिसे उनके बेटे ने अनसुना कर दिया. जिसके बदा रविवार रात को चार लोगों ने उस पर हमला करके उसे बुरी तरह से घायल कर दिया. पीड़ित के पिता ने गोविंद चौधरी, मानजी चौधरी, राजेश चौधरी और वसंत चौधरी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है. ये आरोपी पीड़ित के गांव के ही रहने वाले हैं.

बता दे कि इससे पहले गुजरात में एक 13 साल के दलित लड़के को राजवाड़ी मौजरी (जूती) और सोने की चेन पहनने के लिए पीटा गया था. इस मामले में भी सवर्ण जाति के लोगों का हाथ बताया गया था.

पश्चिम बंगाल: दलित BJP कार्यकर्ता त्रिलोचन महतो हत्या केस में एक गिरफ्तार

दलित घुड़सवारी चैंपियन को मिल रही हैं जान से मारने की धमकी, पीएम से लगाई गुहार

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App