जयपुर. राजस्थान में एसबीसी कैटगरी में 4 फीसदी आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर समाज के आंदोलन ने हिंसक रूप ले लिया है. गुर्जर आरक्षण आंदोलन के तीसरे दिन रविवार को कई जगहों पर आंदोलनकारियों और पुलिस के बीच झड़प हुई. आंदोलनकारियों की ओर से की गई पत्थरबाजी में धौलपुर में 5 पुलिसकर्मी घायल हो गए. जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी दागे.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक धौलपुर के साथ भरतपुर, सवाई माधोपुर और करौली जिले में आंदोलन का सबसे ज्यादा असर दिखाई दिया है. इन जिलों में कई जगहों पर आगजनी और पथराव हुआ है. प्रशासन ने आंदोलनकारियों के खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए करौली में धारा 144 लागू कर दी है.

Gurjar Leader Kirori Singh Bainsla Profile: जानिए कौन हैं गुर्जर आरक्षण आंदोलन के नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला 

आंदोलनकारियों ने दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग और एनएच-3 समेत कई सड़कें भी जाम कर दी हैं, जिससे आवागमन बाधित हो गया है. गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते अब तक 12 ट्रेनें रद्द हो चुकी हैं और 26 ट्रेनों का रूट डायवर्ट कर दिया गया है.

गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के करौली स्थित आवास पर जिला प्रशासन ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना का नोटिस चस्पा किया है. नोटिस में लिखा है कि बैंसला ने दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक जाम कर आंदोलन को उग्र किया है. जिसकी वजह से बीमार और जरूरतमंद लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा है.

उधर, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुर्जर आंदोलन को लेकर कहा है कि कुछ उपद्रवी इस आंदोलन से जुड़ गए हैं. बैंसला ने लोगों से शांतिपूर्वक आंदोलन करने की अपील की है. साथ ही सरकार की तरफ से बातचीत के दरवाजे हमेशा खुले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App