वाराणसी. Gods Wearing Anti Polloution Mask In Varanasi: दीपावली के बाद राजधानी दिल्ली समेत समूचे उत्तर भारत में प्रदूषण का कहर जारी है. जहरीली हवा ने लोगों का जीना दुश्वार किया हुआ है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी भी इससे अछूता नहीं है. शहर में बढ़ते प्रदूषण के चलते स्थानीय लोग नगर निगम से काफी नाराज है. भगवान शिव की नगरी काशी में लोग प्रदूषण से बचने के लिए मास्क पहने हुए नजर आ रहे हैं. लोग तो लोग देवी-देवताओं की मूर्ति पर भी प्रदूषण का असर दिख रहा है. दरअसल वाराणसी के सिगरा स्थित काशी विद्यापीठ के पास स्थिति भगवान शिव पार्वती के मंदिर में प्रतिमाओं के यहां के मुख्य पुजारी और कुछ श्रद्धालुओं ने एंटी पॉल्यूशन मास्क पहना दिया है.

शिव पार्वती मंदिर के मुख्य पुजारी हरीश मिश्रा ने इसके पीछे तर्क देते हुए कहा कि वाराणसी आस्था की नगरी है. आस्था में विश्वास करने वाले हम सभी लोगों का मानना है कि भगवान की मूर्तियां भी सजीव होती हैं. इसी के चलते गर्मी में भगवान की प्रतिमाओं को शीतलता प्रदान करने के लिए हम चंदन का लेप करते हैं. ठंडक में भगवान की मूर्तियों कों कंबल और स्वेटर पहनाया जाता है. जब हम इन्हें इंसानी रूप में मानते हैं तो उन पर भी प्रदूषण का असर हो रहा होगा. ऐसे में हमनें मंदिर में स्थापित प्रतिमाओं को मास्क पहनाया है. बाबा भोलेनाथ, देवी दुर्गा, काली माता और साईं बाबा का पूजन करने के बाद उन्हें मास्क पहना दिया गया है.

मुख्य पुजारी हरीश मिश्रा ने कहा कि जब स्थानीय लोगों ने प्रतिमाओं को मास्क पहने हुए देखा तब वे भी प्रदूषण से बचाव के लिए खुद मास्क पहनने लगे. कई लोगों ने इन प्रतिमाओं से सीख ली है. छोटे बच्चे भी प्रदूषण से बचाव के लिए जागरूक हो रहे हैं. हमने कई घंटों तक देवी देवताओं की प्रतिमाओं का मास्क पहनाए रखा. जब काली जी की प्रतिमा को मास्क पहनाया तो उनकी जीभ ढक गई. शास्त्रों के मुताबिक काली माता की जीभ नहीं ढकना नहीं चाहिए. इसलिए बाद में हमने उनका मास्क उतार दिया. पुजारी ने कहा कि अब प्रदूषण कुछ कम होने लगा है. अगर आगे प्रदूषण बढ़ता है तो प्रतिमाओं को लगातार मास्क पहनाया जा सकता है.

पुजारी हरीश मिश्रा ने कहा कि वायु प्रदूषण से जूझ रहे वाराणसी की आबो हवा ठीक करने के लिए स्थानीय लोगों को आना होगा. लोग त्योहार धूम धाम से मनाएं, पर सेहत का भी ध्यान रखें. पुजारी ने कहा कि धुंध को लेकर हाय तौबा मचने के बावजूज नगर निगम के कर्माचरी सड़कों पर खुलें में कूड़ा जलान से बाज नहीं आ रहे हैं. शहर के कई स्थानों पर खुले में कूड़ा जलाया जाता है. जिससे आसपास के मंदिरों और स्थानों का वातावरण खराब हो रहा है. शहर में प्रदूषण का लेवल काफी बढ़ गया है. यहां हवा में पीएम 2.5 का इंडेक्स 500 को पार कर गया है.

Delhi Pollution Pakistan China Poisonous Gas: बीजेपी नेता का दावा- दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण का कारण है पाकिस्तान-चीन ने भारत में छोड़ी जहरीली गैस

Delhi NCR Pollution AQI Today: दिल्ली एनसीआर के लोगों को वायु प्रदूषण से फौरी राहत, एयर क्वालिटी इंडेक्स में हल्का सुधार

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर