नई दिल्ली. गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का रविवार शाम 63 साल की उम्र में निधन हो गया. पर्रिकर लंबे समय से पैंक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे थे. मनोहर पर्रिकर के जाने के बाद देश की राजनीति के एक युग का अंत हो चुका है. पर्रिकर की सादगी और ईमानदारी की वजह से उन्हें भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ही नहीं बल्कि देश की तमाम राजनीतिक पार्टियां उन्हें सम्मान करती थीं. यही वजह है कि उनके निधन पर तमाम राजनेता पर्रिकर के निधन पर शोक और संवेदना व्यक्त कर रहे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक व्यक्त किया है. पीएम मोदी ने कहा है कि मनोहर पर्रिकर आधुनिक गोवा के निर्माता थे. पर्रिकर एक सच्चे देशभक्त और सेवक थे. प्रधानमंत्री ने मनोहर पर्रिकर के बतौर रक्षा मंत्री के कार्यकाल को याद करते हुए कहा कि उनके कार्यकाल में भारत की सुरक्षा के लिए सरकार ने कई अहम कदम उठाए.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मनोहर पर्रिकर के निधन पर लिखा है कि गोवा सीएम के निधन की खबर सुनकर बहुत दुख हुआ है. उन्होंने खतरनाक बीमारी के खिलाफ लंबे समय तक जंग लड़ी. वह गोवा के लोगों के लिए सबसे पसंदीदा इंसान थे.

केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने ट्वीट कर लिखा है, मनोहर पर्रिकर मेरे मित्र समान थे. मेरे परिवार से उनका काफी जुड़ाव रहा. उन्होंने मुझे मुश्किल समय में भी अपने चेहरे पर गौरव रखना सिखाया और डट कर मुश्किलों से सामना करना सिखाया. वह अपने पीछे कई प्रशंसक छोड़ गए हैं जो उन्हें सदियों तक याद रखेंगे.

केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने ट्वीट कर लिखा, ‘राजनीति में शुरुआती दिनों से वे मेरे साथी और अच्छे मित्र थे. गोवा के विकास के लिए लिए आखिरी सांस तक संघर्ष करने वाले भारत माँ के इस महान सपूत को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि’.

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने कहा, ‘ लंबे वक्त से बीमार चल रहे गोवा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर पर्रिकर जी का जाना दुखद. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति एवं परिवार को शक्ति दे. राजनीतिक जीवन में उनका योगदान सदैव स्मरणीय रहेगा. शत् शत् नमन.’

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और तेलुगु देशम पार्टी के चीफ चंद्रबाबू नायडु ने भी मनोहर पर्रिकर के देहांत पर संवेदना प्रकट की है. नायडु ने कहा कि भगवान को आत्मा को शांति दे और इस दुख की घड़ी में उनके परिवार को प्रति उनकी संवेदना है.

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि एक अच्छे दोस्त को खोने का गम है. मनोहर पर्रिकर अपनी ईमानदारी, सादगी और अखंडता के लिए जाने जाते थे. उन्होंने देश और गोवा की पूरी लगन से सेवा की.

Manohar Parrikar Death Social Media Reactions: गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर का निधन, सोशल मीडिया यूजर्स बोले- अंतिम सांस तक करते रहे देश के लिए काम

Manohar Parrikar Death Live Updates: गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का 63 साल की उम्र में निधन, देश में शोक की लहर, सुबह 11 बजे शोकसभा

Goa Cm Manohar Parrikar Profile: आईआईटी से की थी पढ़ाई, स्कूटर पर चलते थे, ऐसी थी चार बार गोवा के सीएम रहे मनोहर पर्रिकर की शख्सियत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App