पटना. बिहार के दरभंगा से एक वीभत्स खबर सामने आई है. यहां एक 18 वर्षीय युवती ने देवी दुर्गा को खुश करने के लिए अपनी आंख नोंचकर निकाल ली. इसके बाद वह उसे मंदिर में दुर्गा की मूर्ति पर अर्पित करने की कोशिश कर रही थी. तभी मंदिर की पूजा कमिटी के लोगों की नजर उनपर पड़ गई और उन्होंने उस युवती को ऐसा करने से रोक दिया. इस दौरान युवती बेहोश हो गई, जिसके बाद गांव वालों की मदद से उसे तुरंत दरभंगा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया.

यह घटना दरभंगा जिले के बहेड़ी थानांतर्गत आने वाले सिरुआ गांव की हैं. यहां शनिवार की सुबह दुर्गा पूजा के बेलतोड़ि की रस्म निभाने के बाद लोग मंदिर प्रांगण पहुंचे थे. तभी कोमल कुमारी नाम की युवती ने देवी मंदिर के दरवाजे पर बैठ कर अपनी उंगलियों के जरिये अपनी एक आंख निकाल ली. इसके बाद वह उन्हें देवी की प्रतिमा पर अर्पित करने की कोशिश करने लगी तो पूजा कमिटी की नजर उस पर पड़ी.

इस घटना से पूरे मंदिर प्रांगण में हंगामा मच गया. लड़की को देख वहां के लोग भी हैरान हैं. कुछ लोग कह रहे हैं कि लड़की के शरीर में देवी दूर्गा प्रवेश कर गई थी, जिससे उसने यह कदम उठाया. वहीं कुछ का कहना है कि लड़की मन्नत के चलते अपनी आंख चढ़ाने जा रही थी. उसके इस कारनामे से हर कोई हैरान है. उसके पिता अरुण कुमार एक किसान हैं. उन्होंने बताया कि वह 10 साल से दुर्गा की पूजा कर रही है और नियमित व्रत रखती है. लेकिन वह ऐसा कदम उठाएगी ऐसा किसी को अंदाजा नहीं था.

मौके पर मौजूद पुलिस ने बताया कि लड़की ने सभी के सामने अपनी आंख निकाल ली लेकिन कोई उसे रोक नहीं पाया. क्योंकि जब तक कोई समझ पाता वह आंख निकाल चुकी थी. आंख लेकर जब वह दुर्गा की मूर्ति की तरफ बढ़ने लगी तो लोगों ने उसे रोक लिया. तभी वह बेहोश हो गई और उसे ग्रामीणों की मदद से अस्पताल में भर्ती कराया गया.

राज्यसभा चुनाव में जीत के बाद लड्डू खाते दिखे सीएम योगी आदित्यनाथ, अखिलेश बोले-उनका तो व्रत था ?

नवरात्रि में वाराणसी के मणिकर्णिका शमशान घाट पर ठुमके लगाती हैं तवायफें

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App