नई दिल्ली. भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत मंगलवार को अपने पद से सेवानिवृत हो गए. उन्हें भारत का पहला सीडीएस यानी चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बनाया जा रहा है. वहीं जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने नए सेना प्रमुख के रूप में पदभार ग्रहण कर लिया है. नरवणे ने मंगलवार को जनरल बिपिन रावत की मौजूदगी में सेनाध्यक्ष का कार्यभार संभाला. वे देश के 28वें सेना प्रमुख बने हैं.

इससे पहले जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भारतीय थल सेना के उप प्रमुख थे. जनरल बिपिन रावत का कार्यकाल मंगलवार को समाप्त होने जा रहा था. कुछ दिन पहले ही रक्षा मंत्रालय ने नए सेना प्रमुख के रूप में नरवणे के नाम की घोषणा की थी.

नरवणे को भारतीय सेना में 37 साल से ज्यादा समय तक सेवा दे चुके हैं. उन्होंने पूर्व में इन्फैंट्री बिग्रेड और राष्ट्रीय रायफल बटालियन का नेतृत्व किया. बीते जुलाई महीने में ही उन्हें भारतीय सेना का उप प्रमुख बनाया गया था.

नए साल में पहले सीडीएस की जिम्मेदारी संभालेंगे जनरल बिपिन रावत-
जनरल बिपिन रावत मंगलवार को भारतीय सेना प्रमुख के पद से सेवानिवृत हो चुके हैं. अब नए साल में यानी 1 जनवरी को वे देश के पहले सीडीएस यानी चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की जिम्मेदारी संभालेंगे.

सीडीएस बनते ही जनरल बिपिन रावत के पास तीनों सेनाओं- थल सेना, वायु सेना और नैवी को आदेश देने का अधिकार आ जाएगा. तीनों सेनाओं के बीच आपस में तालमेल बनाने की जिम्मेदारी भी सीडीएस के पास ही होगी.

बतौर सीडीएस जनरल बिपिन रावत सीधे प्रधानमंत्री को रिपोर्ट करेंगे. हाल ही में केंद्र सरकार ने सीडीएस के पद को मंजूरी दी थी और चार सितारा अधिकारी को इस पद की जिम्मेदारी देने की घोषणा की थी. जिसके बाद जनरल बिपिन रावत को पहले सीडीएस बनाने का फैसला लिया.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर