नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार आज अपना चौथा आम बजट पेश करने जा रही है. इसके साथ ही रेलवे बजट भी पेश किया जाएगा. वित्त मंत्री अरिण जेटली ही रेल बजट भी पेश करेंगे, क्योंकि 2017 में आम बजट और रेल बजट को एक कर दिया गया था. रेल बजट से इस बार रेलवे को बहुत सारी उम्मीदें हैं. रेलवे के लिए इस बार के आम बजट में सेफ्टी, इंफ्रास्ट्रक्चर और यात्रियों की सुविधाएं प्रथामिकता हो सकती है. हालांकि रेलवे को इस बार बजट से वित्त मंत्रालय से ज्यादा मिलने की उम्मीद नहीं है, इसलिए बाजार की ओर PPP मॉडल पर ज्यादा तवज्जो दी जाएगी.

गौरतलब है कि यह बीजेपी सरकार के वर्तमान कार्यकाल का अंतिम पूर्ण बजट होगा. इस बजट की खास बात ये हैं कि पहली बार वित्त मंत्री अरुण जेटली आम बजट को हिन्दी में पेश करेंगे. इस बार रेलवे ज्यादा से ज्यादा रेवेन्यू के लिए इंटरनल रिसोर्सेज जैसे सरप्लस लैंड और बाजार का रुख करेगा. मुंबई समेत ज्यादातर मेट्रो सिटीज के रेलवे स्टेशन्स के लिए PPP मॉडल अपनाया जाएगा. इस बार रेलवे का बजट 1.46 लाख करोड़ रुपये हो सकता है जो पिछले साल के मुकाबले 15 हजार करोड़ रुपये ज़्यादा हो सकता है. इनमें से ग्रॉस बजटरी सपोर्ट 65000 करोड़ रुपये मिल सकता है.

रेल बजट में वाराणसी के डीजल लोकोमोटिव और पटियाला के डीजल लोकोमोटिव में इलेक्ट्रिक लोको बनाने का प्रस्ताव हो सकता है.रेल इंफ्रास्ट्रक्चर, सिग्नल्लिंग ऑटोमेशन, ट्रैक रिन्यूअल के लिए करीब 95 हज़ार करोड़ रुपये का प्रावधान हो सकता है. वहीं सेमी हाई स्पीड और हाई स्पीड कॉरिडोर के लिए बजट का आवंटन हो सकता है. 11 हजार रेलगाड़ियों में सीसीटीवी और सभी 8500 रेलवे स्टेशनों को रेल नेटवर्क से जोड़ने के लिए करीब 3000 करोड़ रुपये बजट का आवंटन हो सकता है. इसके साथ ही देश के सभी बड़े शहरी और छोटे शहरों के स्टेशनों में करीब 3 हजार एस्केलेटर और 1 हजार लिफ्ट लगवाने के लिए तकरीबन 3,400 करोड़ रुपये का आवंटन हो सकता है.

वहीं इस रेल बजट में नई लाइन, गेज कन्वर्जन और डबलिंगस के लिए पैसे का आवंटन हो सकता है. सभी ट्रेनों के कोचों में साल 2019 तक बायो टॉयलेट लगाने की बात का एलान हो सकता है.बजट में साल 2021 -22 तक पूरा इलेक्ट्रिफिकेशन (OHE)करने की योजना, अगले साल 6 हजार किलोमीटर तक रेल रुट को विद्युतीकृत करने का लक्षय होगा. वहीं 3 साल कर अंदर मानव रहित लेवल क्रासिंग को खत्म करने की योजना की जा सकती है. जिन-जिन रुटों पर हमसफर, तेजस अभी नहीं चल पाए हैं उन्हें चलाने का जिक्र हो सकता है. हालांकि, इस बार बजट में नई ट्रेनों की घोषणा नहीं होगी वहीं रेल किराया भी नहीं बढ़ेगा.

Union Budget 2018 Live Streaming: जानें कब, कहां और कैसे देखें आम बजट 2018 का लाइव प्रसारण

परंपरा तोड़कर पहली बार हिंदी में बजट भाषण देंगे अरुण जेटली!, आजादी के बाद एेसे करने वाले पहले वित्त मंत्री होंगे

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर