नई दिल्लीः Geminid Meteor Shower 2018 in India: काफी दिनों से जिन दिन को लेकर मीडिया और विज्ञान जगत में चर्चा हो रही थी वो आ चुका है जी हां आज यानी की 13 दिसंबर 2018 वो दिन है जब आज रात में अंधेरे की जगह रोशनी जगमगाएगी. जिसका कारण है पृथ्वी पर होने वाली उल्का पिंडों की बारिश. खगोलविदों के मुताबिक गुरुवार और शुक्रवार की रात आसमान से धरती पर उल्का पिंडों की बारिश की खगोलीय घटना घटेगी. वैसे तो ये घटना प्रत्येक वर्ष जुलाई से अगस्त महीने के बीच घटती है लेकिन दिसंबर महीने में होने वाली इस उल्का पिंड की बारिश में ये बहुत बड़ी मात्रा में होगी. जिसको देखते हुए खगोलविदों द्वारा कहा जा रहा है कि 13 दिसंबर की रात आसमान में अंधेरा नहीं बल्कि रोशनी फैलेगी.

वैज्ञानिक भाषा में कहें तो आज की रात धरती अपनी कक्षा में मौजूद धूमकेतु के समूहों से होकर गुजरेगी और इसी के चलते ये अद्भुत उल्का पिंड बारिश की खगोलिय घटना घटने वाली है. हिन्दी में इसे उल्का पिंड की बारिश और अंग्रेजी में इसे Geminis meteor shower कहते हैं. ये उल्का पिंड की बर्फ, धूल के अलावा पत्थर और धातु से मिलकर बने होते हैं और इनसे होने वाले उल्कापात को दूरबीन के सहारे धरती से देखा जा सकता है.

आज यानी 13 और 14 दिसंबर को होने वाली इस उल्का पिंड की बारिश जैसी खगोलिय घटना बहुत खास है क्योंकि 523 दिनों में धरती से एक बार गुजरता है और इस वक्त ये उल्का पिंड की बारिश सूर्य के काफी नजदीक हो जाता है जिसके कारण इसका तापमान 800 डिग्री से भी ज्यादा हो जाता है और इसकी स्पीड 78 हजार मील प्रति घंटा से ज्यादा हो जाती है. इतना ज्यादा तापमान और तेज गती के कारण इन उल्कापिंडो में तेज हलचल होती है और एक तरल पदार्थ इसमें से निकलने लगता है जो एक आतिशबाजी के रुप में पृथ्वी पर दिखाई देता है.

बता दें कि इस घटना को पहली बार 1862 में दर्ज किया गया था जो प्रत्येक वर्ष दिसंबर में आकर्षण का केंद्र बन जाती है. इस घटना में गुरुवार और शुक्रवार को सूर्योदय से कुछ घंटों पहले आकाश में उल्का पिंडो की बारिश उत्तरी अमेरिका के आकाश में दिखाई देगी. गुरुवार और शुक्रवार को, सूर्यास्त के कुछ घंटों बाद आसमान पर ये बारिश नजर आने वाली है जिसको आफ चंद्रमा की तरफ पीठ करने के बाद देख सकेंगे.

Communication Satellite GSAT11 launch: लॉन्च हुआ भारत का सबसे वजनी सैटेलाइट जीसैट11, देशवासियों को मिलेगा ये फायदा

NASA lands Mars InSight on Red Planet: नासा ने मंगल ग्रह पर लैंड किया मार्स इनसाइट, खोलेगा लाल ग्रह के सारे राज