नई दिल्ली. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश में बढ़ते कोरोना महामारी को रोकने के लिए केंद्र सरकार से पूर्ण लॉकडाउन लगाने की मांग की है. राहुल गांधी ने ट्वीट के जरिए यह बात कही. राहुल में  लिखा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए अब देश भर में पूर्ण लॉकडाउन ही एकमात्र विकल्प है. उन्होंने कहा कि कमजोर और गरीब तबके के लोगों को न्याय स्कीम के तहत सुरक्षा दी जाए. इसी के साथ उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार कि निष्क्रियता की वजह से लोगों की जान गई है.

बता दें कि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने लॉकडाउन लगाने का सुझाव दिया था. कोरोना की दूसरी लहर के बीच देश भयंकर संकट में घिरा हुआ है. देश में कोरोना वायरस के हर रोज रिकॉर्डतोड़ मामले सामने आ रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने लॉकडाउन लगाने का सुझाव देते हुए कहा कि लोगों के हित के लिए लॉकडाउन पर विचार करना जरुरी है. कोरोना लहर पर काबू पाने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें लॉकडाउन लगाने पर विचार करें.

पिछले हफ्ते गांधी ने केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा था कि बीमारी की दूसरी लहर के दौरान भारत में दो लाख से अधिक लोगों की मौत के बावजूद शून्य जवाबदेही थी.

मालूम हो कि राहुल गांधी पहले लॉकडाउन के विरोध में अपनी राय रखते आए हैं, पिछले साल भी जब केंद्र सरकार ने पूर्ण लॉकडाउन लगाया था तब राहुल गांधी ने इसकी आलोचना की थी. राहुल गांधी ने कई बार कहा है कि लॉकडाउन सिर्फ कोरोना की स्पीड को रोकता है, उसे खत्म नहीं करता है. हालांकि, राहुल इस बार खुद संपूर्ण लॉकडाउन लगाने की बात कर रहे हैं.

इसी के साथ सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि केंद्र और राज्य सरकारों से अनुरोध करते हैं कि वे सुपर स्प्रेडर कार्यक्रमों के आयोजन एवं लोगों के एकत्र होने पर पूरी तरह से रोक लगाएं. हालांकि, कोर्ट ने यह भी कहा कि लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले लोगों को सुरक्षा देने के लिए भी कदम उठाए जाने की जरूरत है.

पिछले 24 घंटों में, भारत ने 567 मौत के साथ 3.57 लाख से अधिक कोविड मामले दर्ज किए हैं. देश का कोरोना का केस लगभग दो करोड़ से अधिक हो गया है.

Petrol and Diesel Prices Hike : चुनाव नतीजे आने के बाद बढ़ गए पेट्रोल और डीजल के दाम, जानिये अपने शहर का रेट

West Bengal Violence : जीत के बाद बेकाबू टीएमसी कार्यकर्ता, बीजेपी कार्यकर्ता अभिजीत सरकार की पीट पीटकर हत्या, कई घरों में तोड़फोड़

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर