नई दिल्लीः डॉलर के मुकाबले गुरवार को भारतीय रुपया कमजोर रहा जिसके चलते अपने सबसे निचले स्तर पर जा पहुंचा. गुरुवार को तेल की कीमतें बढ़ने का सिलसिला शुक्रवार को भी जारी रहा जिसमें दिल्ली पेट्रोल 12 पैसे प्रति लीटर और डीजल 28 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ जिसके बाद पेट्रोल की कीमत 82.48 रुपये प्रति लीटर और डीजल 74.90 रुपये प्रति लीटर हो चुकी है इसके साथ ही देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 12 पैसे प्रति लीटर और डीजल 29 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ है जिसके बाद वहां पेट्रोल 87.94 रुपये प्रति लीटर और डीजल 78.51 रुपये प्रति लीटर के रेट पर मिल रहा है.

गुरुवार को भी तेल की कीमतें बढ़ने का सिलसिला जारी था जिसमें दिल्ली में पेट्रोल 10 पैसे और डीजल 27 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया था. केंद्र सरकार द्वारा तेल की कीमतों में की गई 2.5 रुपये की कटौती भी तेल की बढ़ती कीमतों पर कुछ खास रोक लगाती नहीं दिख रही. गुरुवारमुंबई में भई पेट्रोल 9 पैसे प्रति लीटर और डीजल 29 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया था.

गुरवार को यूएस डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया अपने नए सबसे निचले स्तर पर जा पहुंचा जिसके बाद एक डॉलर का रेट 74.47 रुपये हो गया था जिसका सीधा असर अंतरराष्ट्रीय बाजार से आयात किए जाने वाले कच्चे तेल की कीमतों पर पड़ रहा है. इसके अलावा दिल्ली एनसीआर में सीएनजी गैस और एलपीजी गैस के दाम पहले ही बढ़ चुके हैं जिसका सीधा असर आम आदमी की जेब पर पड़ रहा है.

बैलगाड़ी चलाकर विजय गोयल ने जताया विरोध, अरविंद केजरीवाल से बोले- पेट्रोल-डीजल के दाम घटाओ

6 महीने में 226 रुपये महंगा हुआ LPG सिलेंडर, लोग वापस मांगने लगे सब्सिडी

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App