रांचीः चारा घोटाला मामले में लालू प्रसाद यादव समेत कई को सजा सुनाए जाने के बाद अब सीबीआई स्पेशल कोर्ट ने बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, बिहार व झारखंड के सेवानिवृत्त मुख्य सचिव वी एस दुबे , बिहार के सेवानिवृत्त डीजी विजिलेंस डीपी ओझा और सीबीआई के एडिशनल एसपी ए के झा पर चारा घोटाला में शामिल होने का आरोप लगाते हुए 28 मार्च को अदालत में हाजिर होने का निर्देश दिया है.

सीबीआई स्पेशल जज शिव पाल सिंह ने इन पर चारा घोटाला में शामिल होने का आरोप लगाया है. गौरतलब है कि सीबीआई के एडिशनल एस पी ए के झा RC 20A/96 के जांच अधिकारी थे तो वहीं बिहार के मुख्य सचिव ए के सिंह पर घोटालेबाजों से मिले होने का आरोप लगा है बता दें कि वह दुमका कोषागार से अवैध निकासी के समय दुमका के DC के पद पर पदास्थापित थे.

साथ ही वी एस दुबे और डी पी ओझा पर मामले में देर से करवाई करने का आरोप लगाया गया है. सीबीआई स्पेशल जज शिव पाल सिंह इन सभी पर बिहार के बहुचर्चित चारा घोटाला मामले में शामिल होने का आरोप लगाते हुए अदालल में हाजिर होने का नोटिस जारी किया है. बता दें कि खुद लालू प्रसाद ने भी जज शिवपाल सिंह से इनलोगों को आरोपी बनाने की मांग भी की थी.

यह भी पढ़ें- चारा घोटाला मामला: झारखंड हाई कोर्ट ने लालू यादव को दिया झटका, नहीं मिली जमानत

आम बजट पर बरसे लालू प्रसाद यादव, बोले- जनता को छल रही मोदी सरकार, सारी घोषणाएं महज हवाबाजी

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App