नई दिल्ली: रैनबैक्सी लेबोरेट्रीज के पूर्व प्रमोटर शिवेंद्र सिंह को दिल्ली पुलिस की आर्थिक विंग ने गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया. दरअसल पिछले साल दिसंबर में रेलिगेयर एंटरप्राइजेज लिमिटेड की सहायक कंपनी रेलिगेयर ने दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा में रैनबैक्सी के प्रमोटर मालविंदर मोहन सिंह और शिवेंद्र मोहन सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी. इस शिकायत में रेलिगेयर एंटरप्राइजेज लिमिटेड के सीएमडी सुनील गोधवानी के अलावा कंपनी के डायरेक्टर्स पर धोखा, जालसाजी और करीब 740 करोड़ रुपये गलत तरीके से इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है. शिकायत में कई धाराओं के अंतर्गत शिकायत दर्ज कराई गई है जिसमें धोखा देना, विश्वास भंग करना, अनिमित्ता, जालसाजी और आपराधिक साजिश रचने जैसी धाराएं शामिल हैं.

रेलिगेयर एंटरप्राइजेज लिमिटेड ने बयान जारी कर कहा है कि रेलिगेयर फाउंडेशन लिमिटेड बोर्ड और मैनेजमेंट ने अंदरुनी जांच के आधार पर ये शिकायत दर्ज की थी. पिछले साल फरवरी से रेलिगेयर एंटरप्राइजेज लिमिटेड को सिंग बंधु संभाल रहे थे. रेलिगेयरर एंरप्राइजेज लिमिटेड बोर्ड से उनके निकलने के बाद रेलिगेयर एंटरप्राइजेज लिमिटेडड और रेलिगेयर फाउंडेशन लिमिडेट बोर्ड को दोबारा बनाया गया. रेलिगेयर एंटरप्राइजेज लिमिटेड रेगुलेटरी फिलिंग द्वारा बनाई गई आरएफफल बोर्ड और मैनेजमेंट ने अपनी रिपोर्ट में बड़ी मात्रा में वित्तीय अनियमित्ताओं की जानकारी दी है. 

इससे पहले अगस्त में ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में मालविंदर मोहन सिंह और उनके भाई शिविंदर मोहन सिंह सिंह के घर पर छापेमारी की थी. दोनों भाईयों के खिलाफ पीएमएलए की धाराओं के तहत भी केस दर्ज है. ये विवाद दरअसल उस वक्त शुरू हुआ जब साल 2008 में जापान की कंपनी दाइची सैंक्यो ने रैनबैक्सी को खरीदा. बाद में इस बात का खुलासा हुआ कि अमेरिका के खाद्य एवं औषधि विभाग में रैनबैक्सी के खिलाफ जांच कर रही है. दाइची सैक्यो ने मालविंदर मोहन सिंह और शिविंदर मोहन सिंह सिंह पर आरोप लगाया कि डील के समय उनसे जांच वाली बात छुपाई गई. इसके बाद दाइची सैक्यो ने दोनों भाईयों के खिलाफ सिंगापुर मध्यस्थता न्यायाधिकरण में शिकायत दर्ज कराई थी.

Zantac Cancer: अगर आप भी ले रहें हैं जेंटेक दवाई तो तुरंत कर दें बंद, कैंसर का हो सकता है खतरा

P Chidambaram Day 1 in Tihar Jail: पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने काटी तिहाड़ जेल में पहली रात, कोई विशेष सुविधा नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App