मोहाली. अक्षय कुमार अभिनीत फिल्म पैडमैन का असर समाज और प्रशासन में दिखाई देने लगा है. अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर मोहाली प्रशासन ने गुरुवार को सेक्टर 76 में प्रशासनिक परिसर में सैनेटरी नैपकिन बैंक का शुभारंभ किया. इस योजना का उद्देश्य सभी जिलों के सरकारी स्कूलों के छात्रों को सब्सिडी वाले सेनेटरी पैड प्रदान करना है. उन महिलाओं और लड़कियों तक पैड पहुंचाने के उद्देश्य से इसका शुभारंभ किया गया है जो महंगी दरों पर बाजार से पैड खरीदने में असमर्थ हैं.

सहजता के साथ सेनेटरी पैड उपलब्ध कराने के लिए प्रशासन ने एक निजी कंपनी से करार किया है जो स्कूल लड़कियों के लिए सिर्फ 8 रुपये में छह पैड प्रदान करेगा. यह योजना शुरू में पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रनीत कौर ने शुरू की थी. उन्होंने कहा, “गरीब लड़कियों और महिलाओं को मासिक धर्म के समय पैड इस्तेमाल न किये जाने से पैदा होने वाले खतरों के बारे में बहुत जानकारी नहीं है. पैड एक महिला को बीमारियों से बचाने में कितना अहम है यह जानकारी देने की जरूरत है. बीमारियों से बचने के लिए शरीर को स्वच्छ रखना आवश्यक है.

बता दें कि सेनेटरी पैड की कीमत की वजह से गरीब महिलाएं खरीद नहीं पातीं और जाने-अनजाने बीमारियों का शिकार हो जाती हैं. सेनेटरी पैड पर टैक्स छूट की भी मांग लंबे समय से चलती रही है. हालांकि फिल्म पैडमैन आने के बाद इसे लेकर व्यापक तौर पर बहस शुरू हुई और इस मुद्दे पर सरकार का ध्यान भी गया. अब देशभर में कई जगह पर विभिन्न सामाजिक संस्थाओं द्वारा सेनेटरी पैड सस्ती दरों पर उपलब्ध कराने के लिए पैड बैंक खोले जा रहे हैं. वहीं सरकारी प्रयास भी जारी हैं.

मेनका गांधी ने सेनेटरी पैड पर GST को सही ठहराया, बताया- क्यों नहीं हटना चाहिए टैक्स

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App