नई दिल्लीः जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में रिसर्च कर रहे छात्र उमर खालिद पर जानलेवा हमला हुआ है. दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब के बाहर उमर खालिद पर गोली चलाई गई लेकिन वह बाल-बाल बच गए. हमलावर पिस्टल वहीं छोड़कर वहां से फरार हो गया. हमले के बाद उमर खालिद ने कहा, ‘एक वक्त के लिए लगा था कि गौरी लंकेश की तरह मुझे भी मार देंगे.’

उमर खालिद ने कहा, ‘यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण जरूर है लेकिन मेरे लिए बिल्कुल भी चौंकाने वाली नहीं है. एक शख्स मेरे पास आता है और मुझे मारने की कोशिश करता है. मैं अपने दोस्तों का शुक्रगुजार हूं जो उस समय वहां मौजूद थे और जिन्होंने हमलावर के नापाक इरादे को नाकाम किया. वह भाग गया और सड़क पार करने के बाद वह मुझपर गोली चलाता है.’

उमर खालिद ने आगे कहा, ‘पिछले दो वर्षों से देश में क्या हो रहा है. कुछ मीडिया घराने देश में नफरत भरे अभियानों का प्रचार-प्रसार कर रहे हैं. सत्तारूढ़ पार्टी की ट्रोल आर्मी विरोधियों के खिलाफ अपना काम कर रही है. जो भी सरकार से सवाल पूछ रहा है, जो उनकी नीतियों पर सवाल कर रहा है उन्हें देशद्रोही कहा जा रहा है और उनके साथ कुछ भी हो सकता है.’

उमर खालिद ने कहा, ‘जब हमलावर ने मुझ पर पिस्टल तानी तो एक पल के लिए मैं भी डर गया था. मुझे लगा कि गौरी लंकेश की तरह मुझे भी मार देंगे. मैं अपने दोस्तों का एहसानमंद हूं जिन्होंने उसका मुकाबला किया और उसे खदेड़ दिया. वरना मेरा बचना मुश्किल था. हम तो यहां सवाल करने ही आए थे कि हमें खौफ से आजादी चाहिए. देश में एक ओर बदहाली है और सवाल करने वालों को डराने-धमकाने की कोशिश की जा रही है.’

JNU के छात्र नेता उमर खालिद पर दिल्ली में कंस्टीट्यूशन क्लब के पास फायरिंग, गोली से बाल-बाल बची जान

बता दें कि दिल्ली पुलिस के मुताबिक, इस घटना में किसी को गोली नहीं लगी है. पुलिस हमलावर की तलाश कर रही है. चश्मदीदों ने बताया कि हमलावर के गोली चलाने के बाद उसके हाथ से पिस्टल गिर गई और वह वहां से फरार होने में कामयाब रहा. उमर खालिद ‘यूनाइटेड अगेंस्ट हेट’ संगठन के ‘खौफ से आजादी’ नामक एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे थे. घटना पर जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा कि हमले के पीछे कौन है यह ढूंढना पुलिस का काम है. सबको पता है कि हमले किस वजह से हो रहे हैं.

कौन हैं जानलेवा हमले में बचे जेएनयू छात्र नेता उमर खालिद जिन पर भारत तेरे टुकड़े होंगे नारा लगाने का आरोप लगा था

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App