नई दिल्ली। खाद्द एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) महाराष्ट्र ने ई-कॉमर्स वेबसाइट Amazon (amazon.in) के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है. खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने बताया कि कंपनी की ओर से गर्भपात की दवाएं ऑनलाइन बेची जा रही थीं. वेबसाइट इसकी बिक्री के लिए किसी तरह का प्रिस्क्रिप्शन भी नहीं मांग रही थी.

बिना बिल के दी गई दवा

एफडीए ने अपनी जांच में पाया कि एमेजॉन ने ए-करे ब्रांड गर्भपात दवा के ऑर्डर को स्वीकार कर लिया था.  इसके लिए आदेशकर्ता से कोई प्रिस्क्रिप्शन भी नहीं मांगा गया.  कुछ समय बाद दिए गए पते पर ‘ए-करे’ ब्रांड के गर्भपात संबंधी दवा भी पहुंचाई गई. हालांकि इसके साथ कोई बिल नहीं दिया गया.

विक्रेता आईडी किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर पंजीकृत 

डिलीवरी से पता चला कि संबंधित दवा ओडिशा से डिलीवर की गई थी. लेकिन जांच में पता चला कि ओडिशा में किसी वेंडर की ओर से दवा की डिलीवरी नहीं की गई थी, बल्कि विक्रेता की आईडी किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर दर्ज थी. आपको बता दें कि इससे पहले भी अमेजन पर तिरंगे का अपमान करने का आरोप लग चुका है. उस समय भी कंपनी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

 

बहुत देर कर दी मेहरबां आते-आते… अखिलेश से टूटा आजम का मन, कर चुके अंतिम फैसला

IPL 2022 में लगातार खराब प्रदर्शन के बाद सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल हो रहे हैं ईशान किशन

 

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर