इस्लामाबाद: जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 खत्म होने के बाद से घाटी में आई शांति पाकिस्तान को हजम नहीं हो रही है लिहाजा कश्मीर को एक बार फिर लहू लुहान करने के मकसद से पाकिस्तान कश्मीर में इंटरनेट की सुविधा देने जा रहा है ताकि वहां के लोगों के दिमाग में जहर भर भारत के खिलाफ उसका इस्तेमाल कर सके. पाकिस्तान के साइंस और टेकनोलॉजी राज्य मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने मीडिया से बातचीत में ये बात कही है कि पाकिस्तान कश्मीर के लोगों को इंटरनेट की सुविधा मुहैया करवाने की संभावनाओं पर काम कर रहा है.

फवाद हुसैन ने कहा कि उन्होंने सुपारको से पूछा है कि क्या वो इंटरनेट की रीच को किसी तरह कश्मीर तक पहुंचा सकते हैं ताकि कश्मीर के लोग इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकें? फवाद हुसैन ने कहा कि कश्मीर में 100 दिन से ज्यादा हो गए लेकिन अभी तक वहां के लोगों को इटंरनेट से दूर रखा गया है जबकि दुनिया के कई देशों में इंटरनेट बुनियादी जरूरतों में शामिल है.

पाकिस्तान की इस हरकत से साफ है कि पाकिस्तान से कश्मीर की शांति बर्दाश्त नहीं हो पा रही और वो चाह रहा है कि किसी तरह फिर एक बार घाटी को लाल किया जाए. सबसे जरूरी और मूल बात तो ये है कि पाकिस्तान भारतीय सीमा में इंटरनेट कैसे दे सकता है? कश्मीर भारत का हिस्सा है और वहां क्या देना है और क्या नहीं ये फैसला पूरे तरीके से भारत की सरकार और भारत का प्रशासन तय करेगा.

पाकिस्तान ये सोच भी कैसे सकता है कि वो कश्मीर में इंटरनेट सुविधा देगा और भारत उसे ऐसा करने देगा. पाकिस्तान के हर नापाक मंसूबों पर भारत सरकार और भारतीय प्रशासन की नजर है. लेकिन पाकिस्तान सरकार के मंत्री के इंटरनेट देने वाले बयान से दुनियाभर में एक बार फिर साबित हो गया कि पाकिस्तान कश्मीर को अस्थितर करने की हर कोशिश कर रहा है.

Pervez Musharraf On Pakistan Terrorism: पाकिस्तान है आतंक का अड्डा, पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने माना, कहा- हाफिज सईद और लादेन हमारे हीरो, भारतीय सेना से लड़ने के लिए आतंकियों को देते हैं ट्रेनिंग

PM Narendra Modi Manmohan Singh Kartarpur Corridor: करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन पर जब पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह से पगड़ी पहनकर मिले पीएम नरेंद्र मोदी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर