Fastags Become Mandatory For All Vehicles: नेशनल इलेक्ट्रानिक टोल कलेक्शन प्रोग्राम के तहत केंद्र सरकार ने 1 दिसंबर 2019 से सभी प्राकर के मोटर वाहनों में FASTags लगाना अनिवार्य कर दिया है. केंद्र सरकार ने FASTags की उपलब्धता बढ़ाने के इंतजाम किए हैं. ताकि 1 दिसंबर की तारीख नजदीक आने पर अंतिम समय में अचानक भीड़ बढ़ने से दिक्कत न हो. फास्टैग की मदद से लोग कैश के बगैर इंलेक्ट्रानिक ढंग से टोल की अदायगी कर सकेंगे. फास्टैग शीघ्र ही पेट्रोल पंपों पर भी मिलेगा इसकी मदद से पेट्रोल व पार्किंग शुल्क का भुगतान भी किया जा सकेगा. इसके साथ ही स्टेट हाईवे तथा शहरी टोल प्लाजाओं पर भी फास्टैग के माध्यम से वाहन चालक टोल अदा कर सकेंगे. सरकारी एजेंसियां इसे सफल बनाने के लिए जोर शोर से तैयारियां कर रही है.

जानिए क्या है फास्टैग

फास्टैग आसान भाषा में एक साधारण रेडियो फ्रीक्वेंसी आईडेंटिफिकेशन (RFID) टैग है जिसे वाहन के आगे के शीशे यानी विंडशील्ड पर चिपकाना पड़ता है. जब कोई फास्टैग लगा वाहन टोल प्लाजा से गुजरेगा तो वहां पर लगा उपकरण चालक के खाते से आटोमैटिक ढंग से टोल काट लेगा. फास्टैग की इस सुविधा ने कैश में भुगतान के झंझट को पूरी तरह से खत्म कर दिया है.

देश के 528 से अधिक टोल प्लाजाओं पर होगी फास्टैग की सुविधा

एनपीसीआई की चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर प्रवीना राय ने कहा कि नेशनल इलेक्ट्रानिक टोल कलेक्शन प्रोग्राम के तहत फास्टैग पर हमारा प्राथमिक फोकस है. दो वर्ष से भी कम की अवधि में ये पूरी तरह इंटरऑपरेटेबल हो गया है. अक्टूबर 2019 में फास्टैग लगे वाहनों से 3.1 करोड़ से अधिक फेरों में 702.86 करोड़ रुपए का टोल वसूला गया है. इससे पहले सितंबर 658 .94 करोड़ रुपए के टोल की वसूली की गई थी. फिलहाल इस प्रणाली से जु़ड़े देश के 23 बैंक फास्टैग इश्यू कर रहे हैं. 10 बैंक फास्टैग का भुगतान प्राप्त कर रहे हैं. मौजूदा समय में राष्ट्रीय राजमार्गों पर स्थिति 528 से ज्यादा टोल प्लाजाओं पर फास्टैग की मदद से टोल एकत्र किया जा रहा है.

यहां से खरीद सकेंगे FASTags

बता दें कि 1 दिसंबर 2017 से देश में बनने वाली सभी नई कारों में फास्टैग लगकर आ रहा है. अभी तक अधिकृत बैंक शाखाओं के अलावा टोल प्लाजाओं, रिटेल लोकेशंस के अलावा बैंकों व ई-कॉमर्स वेबसाइटों तथा माई फास्टैग ऐप के माध्यम से फास्टैग खरीदा जा सकता है. साथ ही कम से कम 100 रुपए की राशि से रिचार्ज कराया जा सकता है. जल्द पेट्रोल पंपों पर भी फास्टैग मिलेगा. फास्टैग के जरिए टोल ही नहीं, बल्कि पेट्रोल डीजल सीएनजी और पार्किंग शुल्क का भुगतान भी संभव होगा.

रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आएगा एसएमएस

इलेक्ट्रानिक टोल कलेक्शन को बढ़ावा देने के लिए एनपीसीआई ने 31 मार्च 2020 तक फास्टैग का उपयोग करने की पर 2.5 फीसदी कैशबैक की व्यवस्था की है. इसके तहत जब कोई वाहन चालक इलेक्ट्रानिक टोल प्लाजा से गुजरेगा तो उसके खाते से टोल की राशि कट जाएगा. परंतु कुछ सेकेंड बाद 2.5 फीसद राशि खाते में वापस आ जाएगी. चालक के रजिस्टर्ड नंबर मोबाइल नंबर पर इसका एसएमएस आता है.

Delhi Odd Even Scheme 2019: दिल्ली में 4 से 15 नवंबर तक ऑड ईवन स्कीम, जानिए नियम, समय, जुर्माना और पूरी जानकारी

Chhath Puja 2019 Arghya Sunrise Timing: यूपी बिहार समेत देश के प्रमुख शहरों में छठ पूजा पर रविवार सुबह उगते सूरज को अर्घ्य देने का सूर्योदय सही समय, मुहूर्त

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर