श्रीनगर. पब्लिक सेफ्टी एक्ट हटने के बाद जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम और नेशनल कॉन्फ्रेंस प्रमुख फारुख अब्दुल्ला अपने नजरबंद बेटे उमर अब्दुल्ला से मिलने पहुंचे. उमर से मिलकर वे काफी भावुक हो गए. नरेंद्र मोदी सरकार के धारा 370 खत्म करने के बाद से ही फारुख अब्दुल्ला हिरासत में थे जिनपर बीते पांच फरवरी को पीएसए एक्ट लगा दिया गया था. फारुख अब्दुल्ला के बेटे और पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला और राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री व पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती पर भी पीएसए एक्ट के तहत अब भी नजरबंद हैं.

जनसुरक्षा कानून के तहत अपनी हिरासत खत्म होने के बाद वे अपने आवास के नजदीक ही हरि निवास पहुंचे, जहां उनके बेटे नजरबंद हैं. मुलाकात के दौरान दोनों बाप-बेटा काफी भावुक नजर आए और देखते ही एक दूसरे को गले से लगा लिया. जम्मू कश्मीर प्रशासन की मानें तो दोनों नेताओं की मुलाकात एक घंटे तक चली.

धारा 370 हटने के बाद से नजरबंद जम्मू कश्मीर के नेताओं पर संसद तक सवाल उठाए जा चुके हैं. कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल लगातार नरेंद्र मोदी सरकार पर इन नेताओं की नजरबंदी को लेकर हमलावर हैं. फारुख अब्दुल्ला की हिरासत खत्म होते ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद ने पूर्व सीएम फारुख अब्दुल्ला से उनके आवास पर मुलाकात भी की है.

SC on Omar Abdullah Detention: उमर अब्दुल्ला की PSA एक्ट के तहत नजरबंदी पर सुप्रीम कोर्ट का जम्मू कश्मीर प्रशासन को नोटिस, बहन सारा ने दाखिल की थी याचिका

Shah Faesal Detained PSA: उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के बाद जम्मू कश्मीर प्रशासन ने पूर्व IAS शाह फैसल पर लगाया PSA एक्ट