Farmers Protest: नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन लगातार 21वें दिन भी जारी है. किसानों ने नरेंद्र मोदी सरकार के प्रस्ताव को ठुकरा दिया है. कृषि कानूनों पर जारी गतिरोध के बीच सुप्रीम कोर्ट में इस मामले पर सुनवाई शुरू हो चुकी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी किसानों से गतिरोध खत्म करने की अपील की है. साथ ही कहा है कि विपक्ष किसानों को भ्रमित करने और भड़काने का काम कर रहा है.

दिल्ली की सीमा पर किसानों के आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है. याचिकाकर्ता की ओर से सुप्रीम कोर्ट में शाहीन बाग केस का हवाला दिया गया. सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने कहा कि ये एक महत्वपूर्ण विषय है. सॉलिसिटर जनरल ने अदालत से अपील की है कि हरीश साल्वे ऐसे ही एक मामले में दलील देना चाहते हैं. हालांकि, जज की ओर से हरीश साल्वे को बहस में शामिल करने से इनकार कर दिया गया. 

किसानों ने एक बार फिर दिल्ली और नोएडा सीमा को बंद कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट में आज होने वाली सुनवाई से पहले किसानों ने अपने आंदोलन को धार दी है. कुछ दिन पहले नोएडा सीमा को खोला गया था, लेकिन अब दूसरे संगठन ने यहां मोर्चा संभाला है.  इसके साथ ही संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से सरकार को लिखित में जवाब दिया गया है. किसान मोर्चा ने सरकार से अपील की है कि वो उनके आंदोलन को बदनाम ना करें और अगर बात करनी है तो सभी किसानों से एक साथ बात करें. 

Farmers Protest LIVE Updates: कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी, नितिन गडकरी बोले- हर अच्छा सुझाव मानने को सरकार तैयार

Ajay Shukla Exclusive Column: लोकतंत्र बचाने के लिए किसानों के साथ आइये

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर