नई दिल्ली : कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन लगातारी जारी है. इस कड़ी में आज किसानों ने यूपी और उत्तराखंड को छोड़कर देशभर में चक्का जाम का आह्वान किया है. इसका चलते कई राज्यों में किसानों ने सड़क पर बैठ कर चक्का जाम किया है. वहीं गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि देश में किसानों का चक्का जाम शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा है. उन्होंने कहा है कि देश की मिट्टी से किसानों को जोड़ेंगे. नए युग का जन्म होगा.

राकेश टिकैत ने किसानों आंदोलन पर राजनीति किए जाने को लेकर कहा है कि, इसमें राजनीति वाले कहां हैं? यहां कोई नहीं आ रहा है. ये जन आंदोलन है. रोटी तिजोरी में बंद न हो, ये उसका आंदोलन है. हम कहीं नहीं जा रहे हैं. हम 2 अक्टबूर तक यहां बैठेंगे. यूपी और उत्तराखंड में चक्का जाम क्यों नहीं? राकेश टिकैत ने कहा कि उन्हें ऐसी सूचना मिली थी कि यूपी और उत्तराखंड में कुछ शरारती तत्व हंगामा करने वाले हैं., इसलिए इन दोनों राज्यों में चक्का जाम नहीं करने का फैसला किया गया.

बता दें कि दिल्ली से सटे शाहजहांपुर, सिंघु, गाजीपुर, टिकरी बॉर्डर पर प्रदर्शन चल रहा है. चक्का जाम के दौरान प्रदर्शनकारियों ने शाहजहांपुर सीमा (राजस्थान-हरियाणा) के पास राष्ट्रीय राजमार्ग को बंद कर दिया गया है. वहीं हरियाणा के पलवल के पास अटोहन चौक पर किसानों ने विरोध प्रदर्शन किया.

गौरतलब है कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों आंदोलन पिछले दो महीनों से जारी है. फिलहाल, अब तक कोई बीच का रास्ता नहीं निकल पाया है. एक तरफ किसान अपनी मांग पर अड़े हुए हैं. दूसरी तरफ सरकार का कानून वापसी लेने के मूड में नहीं लग रही है.

Ghazipur Border Latest Update : देशभर में किसानों का ‘चक्का जाम, गाजिपुर बॉर्डर पर शांति, राकेश टिकैत ने कहा- बवाल हुआ तो देंगे दंड

Farmers Protest Latest Update : उत्तरप्रदेश में किसान आंदोलन ने पकड़ा तूल, सीएम योगी आदित्यनाथ की बढ़ी मुश्किलें

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर