नई दिल्ली : सोमवार को संसद में पीएम मोदी ने संबोधन के दौरान किसान आंदोलन के बारे में बात की और किसानों से अपने आंदोलन को खत्म करने की अपील की है. इसके बाद अब भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत का बड़ा बयान सामने आया है. उन्होंने पीएम मोदी की अपील के बाद कहा है कि अगर वो बातचीत करना चाहते हैं, तो हम तैयार हैं.

दरअसल, आज राज्यसभा में संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने किसानों को MSP को लेकर भरोसा दिलाया और कहा, MSP था, है और रहेगा. जिसके बाद राकेश टिकैत ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि इन बिलों को वापस लेकर, MSP पर कानून बनाना चाहिए. साथ ही राकेश टिकैत ने यह भी कहा है कि भूख पर व्यापार नहीं होना चाहिए. ऐसा करने वालों को बाहर निकाल दिया जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि सरकार 15 संशोधन करना चाहती है, पहले उन्हें निकाल लें और फिर आगे की बात भी कर ली जाएगी.

इसके अलावा टिकैत ने दूध के मामले में भी देश की हालत ठीक नहीं बताई है, उन्होंने कहा कि ऐसा ही रहा तो तुर्की जैसे हालात हो जाएंगे और दूध भी बाहर से मंगाना पड़ेगा. किसान नेता बोले कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपील करनी चाहिए कि सभी सांसद अपनी-अपनी पेंशन को छोड़ दें.

बता दें कि केंद्र सरकार और किसानों के बीच कृषि कानूनों को लेकर पिछले दो महीनों से गतिरोध जारी है. जिसके चलते अबतक सरकार और किसान संगठन के बीच 11 दौर की बात हो चुकी है, लेकिन कोई हल नहीं निकल पाया है. फिलहाल, आज प्रधानमंत्री ने राज्यसभा से किसानों को एक बार फिर चर्चा के लिए निमत्रंण दिया है. अब देखना यह होगा कि पीएम के इस संदेश के बाद किसान आंदोलन में कोई बदलाव आता है या नहीं.

PM narendra Modi in Rajya Sabha : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राज्यसभा में संबोधन, किसान आंदोलन पर पीएम मोदी ने बोली ये 10 बड़ी बातें

Uttrakhand Glacier Brust: उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर टूटा, भीषण सैलाब में सैकड़ों लोगों के बहने की आशंका

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर